जोरदार बारिश से तपते पहाड़ों को मिली राहत

 हिमाचल प्रदेश में कई स्थानों पर जोरदार बारिश हुई जिसने सूखे जैसे हालात से राहत प्रदान की। मौसम विभाग द्वारा जारी अलर्ट का असर देखने को मिला। इस दौरान राज्य में कई स्थानों पर जमकर बारिश हुई। शिमला सहित कई जिलों में बादल छाये रहे जबकि कई इलाकों में अंधड़ के साथ भारी बारिश हुई। चंबा जिले में भारी बारिश के चलते चनेड में नाले में उफान आने से सड़कों पर पानी भर गया और करीब दो घंटे तक यातायात पूरी तरह से बाधित रहा। पानी कई लोगों के घरों और दुकानों में भी जा घुसा। दोपहर बाद अंधड़ व ओलावृष्टि के साथ शिमला में अंधेरा छा गया। इससे तापमान में गिरावट आ गई है।

शिमला में 50 मिलीमीटर वर्षा हुई जबकि भुंतर 6.0, कल्पा में 9.0, केंलाग में 13.0, मनाली 9.0, मंडी में 0.1, डलहौजी 28.0 और जुब्बड हट्टी में 5.0, फागु 10.0, तीसा में 9.0, कुमारसेन 7.0, कालाटाॅप 5.0 और चंबा में 4.5 मिलीमीटर वर्षा रिकार्ड की गई है। इससे लोगों को गर्मी से राहत मिली है।
कांगड़ा जिले में भी जमकर बादल बरसे। यहां दिन में ही रात जैसा मंजर देखने को मिला। यहां कई इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश और ओले भी गिरे। हालांकि इस बारिश से लोगों को तपती गर्मी से जरूर निजात मिली है।
उपमंडल की टेपा पंचायत में तूफान से निर्माणाधीन दो मंजिला मकान की छत उड़ गई। वहीं, तीसा-बैरागढ़ मुख्य मार्ग पर तरवाई के पास भारी बारिश के कारण सड़क के ऊपर तेज प्रवाह में झरना बहने लगा। इस कारण कुछ देर के लिए वाहनों की आवाजाही थम गई। उधर, कांगड़ा जिले के कई भागों में भी बारिश हुई है। इंदौरा, जसूर, ज्वालामुखी, राजा का तालाब व अन्य क्षेत्रों में भारी बारिश हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed