वयोवृद्ध कलाकार व कई कलाकारों के गुरु लक्ष्मण सिंह को कला प्रेमियों ने किया सम्मानित
क्राइम फ्लैश न्यूज

डी एन कुशवाहा

रामगढ़वा पूर्वी चंपारण- यह कथन बिल्कुल सत्य है कि कलाकार किसी परिचय का मोहताज नहीं होता। उसकी काबिलियत ही उनका परिचय है। इस उक्ति को चरितार्थ किया है पूर्वी चंपारण के रामगढ़वा प्रखंड अंतर्गत धनहर दिहुली गांव निवासी व रामलीला मंडली के मालिक लक्ष्मण सिंह ने। जो विगत 8 दशक पूर्व से पूर्वी चंपारण सहित नेपाल और इंडिया के विभिन्न राज्यों में जाकर कला के क्षेत्र में अपना परचम लहरा चुके हैं। अपने मंच के माध्यम से हमेशा पुरुषोत्तम श्री रामचंद्र सहित अन्य भगवान एवं राजा महाराजाओं का रोल अदा करने वाले लक्ष्मण सिंह ने बताया कि मैं बचपन से ही पुरुषोत्तम श्री रामचंद्र जी की भक्ति और रामलीला के माध्यम से देश- विदेश के श्रद्धालुओं का मनोरंजन करते आ रहा हूं‌। उन्होंने कहा कि मेरे रामलीला के माध्यम से सैकड़ों बेरोजगार व कला प्रेमी मशहूर कलाकार व गायक बन चुके हैं। जिनके कला के माध्यम से आज उनके परिवार का मजे से रोजी-रोटी चल रहा है। उन्होंने कहा कि प्रभु कि कृपा से आज भी मैं रामलीला में अपने कला का प्रदर्शन करके हजारों, लाखों श्रद्धालुओं का मनोरंजन करता हूं। उनके कला के कायल व लखौरा के कुछ महानुभावों ने उनको फूल की माला पहनाकर एवं प्रतिष्ठा की चादर ओढ़ाकर सम्मानित किया। सम्मानित करने वालों में बीडीओ सहराजा हुसैन, दारोगा मजहर हुसैन, दारोगा अजहर हुसैन, शिक्षक इफतेकार मियां, पहलवान विजय सिंह तथा पहलवान रामसागर सिंह शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed