रामगढ़वा व्यवसायिक संघ के सदस्यों ने अजीत हत्याकांड में पुलिस की निष्क्रियता को लेकर निकाली कैंडल मार्च

डी एन कुशवाहा

रामगढ़वा पूर्वी चंपारण- स्थानीय व्यवसायिक संघ के सदस्यों ने गल्ला व्यवसायी शंभू प्रसाद के युवा पुत्र अजीत कुमार की हत्या व पुलिस की निष्क्रियता से आक्रोशित होकर मंगलवार की संध्या कैंडल मार्च निकाला। कैंडल मार्च को संबोधित करते हुए संघ के संस्थापक व संरक्षक पूर्व मुखिया बाल किशोर प्रसाद ने कहा कि रामगढ़वा के लोग अजीत हत्याकांड से काफी दहशत में हैं। उन्होंने सुशासन बाबू की सरकार व स्थानीय पुलिस की भूमिका पर सवालिया निशान खड़ा करते हुए कहा की बिहार में जंगलराज आ गया है। अपराधियों को पुलिस का कोई भय नहीं है। संयोग से ही पुलिस गस्ती करते नजर नहीं आती है। अभी जितनी भी गोली कांड हो रही है वह संध्या में ही हो रही है, लेकिन पुलिस संध्या में अपने थाना क्षेत्र में निष्क्रिय दिखाई देती है। उन्होंने कहा कि अजीत हत्याकांड का यदि यथाशीघ्र पुलिस उद्भेदन व अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं करती है तो व्यवसायिक संघ आंदोलन को और तेज करेगा एवं जरूरत पड़ने पर सड़क भी जाम करेगा। कैंडल मार्च दही बाजार से शुरू होकर पूरे रामगढ़वा मार्केट का भ्रमण किया। जिसमें संघ के अध्यक्ष शिक्षक द्वारिका प्रसाद ,संयोजक अर्जुन प्रसाद ,संस्थापक व संरक्षक बाल किशोर प्रसाद, वरिष्ठ उपाध्यक्ष वीरेंद्र प्रसाद, मनोज कुमार गुप्ता, शंभू प्रसाद रेल ब्रांड, जावेद अख्तर, मनोज पांडे, राजन कुमार गुप्ता, कुणाल गुप्ता, संरक्षक पंकज पांडे, विनोद यादव, विनोद रौनियार, शिक्षक रामनाथ प्रसाद तथा पैक्स अध्यक्ष रंजीत कुमार सहित सैकड़ों की तादाद में रामगढ़वा व्यवसायिक संघ के सदस्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed