कोविड 19 को लेकर जिला अधिकारी ने स्वास्थ विभाग को अलर्ट मोड पर रहने का निर्देश दिया

राजीव रंजन की रिपोर्ट

मुजफ्फरपुर
कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते मामलों एवं संभावित तीसरी लहर से निपटने को लेकर जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर प्रणव कुमार ने स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट किया है। इसे लेकर आज जिलाधिकारी की अध्यक्षता में उनके कार्यालय कक्ष में समीक्षात्मक बैठक आहूत की गई जिसमें जिलाधिकारी के द्वारा स्वास्थ्य विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारियों को महत्वपूर्ण निर्देश दिए गए। बैठक में कोरोना टेस्टि‍ंग, टीकाकरण एवं कोविड के बढ़ते संक्रमण एवं संभावित तीसरी लहर से बचाव एवं तैयारी को लेकर क्या-क्या कदम उठाए गए हैं उसकी विस्तृत समीक्षा की गई। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि कोरोना जांच की संख्या बढ़ाएं एवं प्रतिदिन कम से कम 8000 टेस्टि‍ंग करें। कहा कि आरटी पीसीआर टेस्ट प्रतिदिन कम से कम 3000 करना सुनिश्चित करें। निर्देश दिया कि स्टेशन और एवं बस स्टैंड पर जांच टीमों की संख्या बढ़ाई जाए ताकि अधिक से अधिक लोगों की जांच की जा सके। हंड्रेड परसेंट कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग करने का निर्देश जिलाधिकारी के द्वारा दिया गया। सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, ऑक्सीजन प्लांट, बेड की उपलब्धता, दवा की उपलब्धता का एक बार पुन: आकलन कर लें और इस संबंध में सभी प्रकार की आवश्यक तैयारियां रखें ताकि, किसी भी प्रकार की आपदा की स्थिति का सामना करने के लिए हम तैयार रहें। उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर पैनिक होने की जरूरत नहीं है, परंतु हमें सावधान भी रहना है।
बैठक में उपस्थित सिविल सर्जन डॉ विनय कुमार शर्मा द्वारा जानकारी दी गई कि जिले में बेड की उपलब्धता सहित ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता है। उन्होंने कहा कि सभी आवश्यक तैयारियां पूर्ण कर ली गई है एवं स्वास्थ विभाग अलर्ट मोड में कार्य कर रहा है। टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई जा रही है टीकाकरण में भी अपेक्षित वृद्धि हो रही है। उन्होंने बताया कि कंट्रोल रूम से पॉजिटिव व्यक्तियों की स्वास्थ्य जानकारी लगातार ली जा रही है।
बैठक में जिलाधिकारी ने स्पष्ट कहा कि सभी सार्वजनिक क्षेत्रों में मास्क पहनने की स्थिति की जांच हेतु सघन चेकिंग अभियान को और गति देना सुनिश्चित करें।मास्क नहीं पहनने वाले नागरिकों से आर्थिक दंड की वसूली करें। जो भी दुकानदार निर्धारित अवधि के बाद दुकान खोलते हैं या कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं करते हैं उनके दुकानों को सील किया जाए। उन्होंने विशेष तौर पर इस आशय का निर्देश दोनों अनुमंडल पदाधिकारी और नगर आयुक्त को दिया।
बैठक में उप विकास आयुक्त आशुतोष द्विवेदी, नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय, अपर समाहर्ता राजेश कुमार, अपर समाहर्ता आपदा डॉ अजय कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी एवं पश्चिमी ,डीआरडीए निदेशक ,सिविल सर्जन डॉ विनय कुमार शर्मा, डीपीएम, चिकित्सक डॉक्टर डॉ सीके दास, डॉ एके पांडे सहित डब्ल्यूएचओ एवं केयर के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *