बिहार में 20 लाख लोगों ने अब तक नहीं लिया है कोरोना का एक भी टीका, सरकार की बढ़ी चिंता

राजीव रंजन की रिपोर्ट

बिहार में कोरोना संक्रमण एक बार फिर से तेजी से बढ़ने लगा है. कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन की आहट भी लोगों को मिलने लगी है. पटना में ओमिक्रोन के एक मामले भी सामने आये हैं. सरकार की ओर से लोगों को सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं. संक्रमण से बचने का एकमात्र उपाय वैक्सीनेशन है, सरकार ज्यादा से ज्यादा लोगों को जल्द वैक्सीनेट करना चाहती है,लेकिन बिहार में 20 लाख से ज्यादा ऐसे लोग हैं जिन्होंने वैक्सीन के पहली डोज नहीं लिए हैं.

बिहार सरकार ने दिसंबर माह तक 5 करोड लोगों को वैक्सीनेट करने का लक्ष्य रखा था, लेकिन लक्ष्य को समय से पहले पूरा कर लिया गया है. सरकार 3 जनवरी से वैक्सीनेशन के दूसरे अभियान की शुरुआत करने जा रही है, लेकिन अभी बिहार में बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं जिन्होंने वैक्सीन के एक भी डोज नहीं लिए हैं. सरकार भी इस बात को लेकर चिंतित है.

सरकार ने 18 साल से अधिक उम्र के 5 करोड़ 96 लाख लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य रखा था. अब तक 5 करोड़ 76 लाख से ज्यादा लोगों को वैक्सीन दिया जा चुका है. अब तक 85 प्रतिशत लोग वैक्सीनेट किए जा चुके हैं. 20 लाख लोग ऐसे हैं जिन्होंने अब तक वैक्सीन नहीं लिए हैं. सरकार वैसे लोगों के लिए डोर टू डोर अभियान चला रही है.

3 जनवरी से 15 से 18 आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण शुरू हो जाएगा. लोग 1 जनवरी से ऐप पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे. वहीं 3 जनवरी से ऑन स्पॉट भी रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं. 83.46 लाख बच्चों को इस आयु वर्ग में वैक्सीन दिया जाना है. 10 जनवरी से उन लोगों को वैक्सीन लगेगा, जिनका 9 महीना पूरा हो चुका है. इस श्रेणी में फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका दिया जाना है. 60 वर्ष आयु वर्ग में डॉक्टर की सलाह पर टिका लगेगा. मीडिया कर्मियों को भी फ्रंटलाइन की श्रेणी में रखा गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *