देश में दरिद्रता,भ्रष्टाचार,चाकरी व अघोषित गुलामी का बोलबाला है,शायद यही वजह है कि सरदार भगत सिंह ने माफी नहीं माँगी थी: विजय अमित निदेशक आयाम

डी एन कुशवाहा

अरेराज पूर्वी चंपारण- बड़े बुजुर्गो से सूना है–अंग्रेज के समय कानून व्यवस्था और भ्रष्टाचार की स्थिति बहुत बेहतर होती थी। शायद यही बात आज नहीं देखी जा रही है?आप जब तक आम आदमी के जीवन में भय,भ्रष्टाचार का माहौल बना रखेंगे शायद राम राज्य की स्थापना नहीं हो सकती है। उक्त बातें प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से अरेराज आयाम के निदेशक विजय अमित ने गुरुवार को कही। साथ ही उन्होंने कहा कि लाख जय श्री राम का नारा बुलंद करते रहें—आश्चर्य की बात यह है कि जनता के लिए सेवा करने वाले लोकतंत्र के सबसे प्राथमिक प्रतिनिधि ग्राम पंचायत के मुखिया पद के चुनाव में ईमानदारी से 25 से 50 लाख रुपये खर्च किये जा रहे हैं। जबकि ये मात्र 05 वर्ष के लिए सेवा करने का मौका दिया जाता है। तो आपको अपने विवेक से यह स्पष्ट समझ लेना चाहिए कि क्या भ्रष्टाचार मुक्त भारत की कल्पना की जा सकती है? आपने सही समझा –ये कॉंग्रेस मुक्त देश बनाने के लिए संकल्पित सरकार शायद भ्रष्टाचार और सरकारी राहत को आम आदमी की ताकत और अधिकार बना दिया है— जिसका दुष्परिणाम यह होता है कि आम आदमी आलसी और मुफ्तखोरी के द्वारा जीवन जीने की आदत डाल लेता है। श्री अमित ने कहा कि भले ही वर्तमान सरकार प्रभु श्री राम को आगे रख सत्ता सुख भोग रही है–। लेकिन सच्चाई यह है कि देश में दरिद्रता,भ्रष्टाचार,चाकरी और अघोषित गुलामी का बोलबाला है। शायद यही वजह है कि सरदार भगत सिंह जी ने माफी नहीं माँगी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed