🚨मोतिहारी DM और पुलिस टीम पर हमला मामले में कार्रवाई, पूर्व RJD MLA के साथ 142 के खिलाफ FIR

डी एन कुशवाहा की रिपोर्ट

मोतिहारी पंचायत चुनाव के सातवें चरण के तहत पूर्वी चंपारण जिले के मेहसी प्रखण्ड स्थित नोनिमल पंचायत के बूथ संख्या-177 पर सोमवार को हुए हंगामा और पथराव मामले में कार्रवाई तेज हो गई है. इस मामले में तेतरिया बीडीओ सह सेक्टर मजिस्ट्रेट जितेन्द्र कुमार सिंह के बयान पर विधायक शिवजी राय समेत 42 नामजद और 100 से ज्यादा अज्ञात लोगों के खिलाफ राजेपुर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है.

डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने बताया कि उन्हें बूथ कैप्चरिंग और मतदान की गोपनीयता को भंग करने की सूचना मिली थी. जिसके बाद मौके पर पहुंचकर कार्रवाई करने के बाद स्थानीय लोग उग्र हो गए और हंगामा करने लगे. इस मामले में कानूनी कार्रवाई शुरु कर दी गई है.

एसपी नवीन चंद्र झा ने बताया कि घटना को लेकर प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. अभी तक किसी उपद्रवी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. लेकिन जल्द ही उपद्रवियों की गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाएगी. एसपी के अनुसार उपद्रवियों के हमला में पकड़ीदयाल एसडीओ, एक एएसआई और चार सिपाही जख्मी हो गए हैं, जिसमें एक महिला सिपाही को ज्यादा चोट लगी है.

बता दें कि मेसही प्रखंड के नोनिमल पंचायत स्थित बूथ संख्या 177, 178 और 179 पर मतदान के अंतिम समय में बूथ कैप्चरिंग और मतदान की गोपनीयता भंग किए जाने की सूचना डीएम को मिली थी. जानकारी मिलने पर डीएम बूथ पर पहुंचे और कुछ लोगों को डिटेन कर लिया था. उसके बाद स्थानीय लोगों ने बवाल काटा था. लोगों के हंगामे के बाद पुलिस ने उनपर लाठीचार्ज किया था.

जिसमें पूर्व विधायक शिवजी राय समेत कई लोग जख्मी हो गए थे, उसके बाद गांव वालों ने इकट्ठा होकर डीएम समेत सभी प्रशासनिक अधिकारियों पर लाठी फट्ठा और ईंट से हमला कर दिया. साथ हीं उन्हें बंधक भी बना लिया. काफी मशक्कत के बाद डीएम समेत बंधक बने अधिकारियों को ग्रामीणों के चंगुल से मुक्त कराया जा सका था.

ग्रामीणों के हमला में पकड़ीदयाल एसडीओ कुमार रविंद्र, एसआई अनुज कुमार सिंह, महिला सिपाही चंदा देवी, सिपाही रविकांत पटेल, उमाशंकर गुप्ता और मुरारी कुमार जख्मी हो गई हैं. महिला सिपाही चंदा को ज्यादा चोटें आई हैं. उनके कुल्हा की हड्डी टूट गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed