लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती को सीमा जागरण मंच के तत्वाधान में राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप मे मनाया गया

डी एन कुशवाहा

रक्सौल पूर्वी चंपारण- रविवार को देश के प्रथम उप प्रधान मंत्री एवं गृहमंत्री लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती को सशस्त्र सीमा बल एवं सीमा जागरण मंच के तत्वाधान में राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप मे मनाया गया। इस अवसर पर सशस्त्र सीमा बल एवं सीमा जागरण मंच के आह्वान पर सैकड़ों मोटर साइकिल के साथ राष्ट्रीय ध्वज लहराते हुए एवं भरत माता की जय, वन्देमातरम, सरदार पटेल अमर रहे उद्घोषक के साथ मेन रोड, नहर चौक होते हुए नोनयाडीह ,महदेवा ,सहदेवा सशस्त्र सीमा बल कैम्प ,इस्लामपुर ,गांधी नगर ,आश्रम रोड, बैंक रोड, परेउवा होते हुए 47 वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल हेड क्वार्टर , पनटोका पहुंचे। इस अवसर पर मनोज कुमार (डिप्टी कमांडेंट ) सशस्त्र सीमा बल ने अपने संबोधन में राष्ट्र के एकता के लिए पटेल जी के द्वारा किए गये कार्यों को बतलाया ।इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग संघ चालक प्रो.राज किशोर सिंह ने बतलाया की पटेल जी की ही दूरदर्शिता है कि खून का एक कतरा भी नहीं बहा एवं 565 रियासतों को भारत मे विलय करा लिया। आज देश अखण्ड है तो उसमे सरदार पटेल जी की अहम भूमिका है। 2014 मे भारत सरकार ने 31अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता सीमा जागरण के जिला अध्यक्ष सुरेश कुमार गुप्ता (बाबा) ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन मुकुल कुमार सिंह ने किया। इस अवसर पर सशस्त्र सीमा बल के सहदेवा कैंप के इंस्पेक्टर उदय कुमार सिंह सब इंस्पेक्टर सूर्य प्रकाश हवलदार अजय सिपाही प्रेम कुमार हेड क्वार्टर से ए एस आई रविशंकर कुमार, अनूप कुमार, रमेश कुमार भगत, ज्ञानेन्द्र कुमार, योगेश कुमार शुक्ला, उमाशंकर कुमार, अमित कुमार, प्रकाश चन्द्र, विक्रम सिंह, विपिन विहारी शुक्ला अखिलेश कुमार झा,साथ ही नगर से बैकुण्ठ बिहारी सिह,दिनेश चौधरी, दुर्गेश कुमार, विकास कुमार,धर्मनाथ प्रसाद, चैतन्य कुमार, धीरज कुमार, अजीत पांडे, सुरज कुमार मंच के जिला उपाध्यक्ष एच पी ठाकुर, कोषाध्यक्ष प्रतिक चंद्र प्रसाद ,नगर संयोजक साहब पटेल, मंत्री सुनील कुमार, जितेंद्र पटेल, रामबाबू प्रसाद ।
पनटोका के बाद हाजमा टोला, सिंहपुर हरेया होते हुए सीवान टोला , पिलर संख्या 394 के पास जाकर भारत माता की जय घोष एवं वन्देमातरम की गूँज के साथ समाप्त हुआ। इसकी जानकारी सुरेश कुमार गुप्ता उर्फ बाबा ने दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed