बैरिया बस पड़ाव समिति की बैठक जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर प्रणव कुमार की अध्यक्षता में उनके कार्यालय कक्ष में आहूत की गई।

राजीव रंजन की रिपोर्टबैरिया बस पड़ाव समिति की बैठक जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर प्रणव कुमार की अध्यक्षता में उनके कार्यालय कक्ष में आहूत की गई।राजीव रंजन की रिपोर्ट बैठक में बैरिया बस स्टैंड को इंटीग्रेटेड बस टर्मिनल बनाए जाने ,यात्रियों के लिए सभी आवश्यक सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित हो इस दिशा में विस्तृत विचार- विमर्श किया गया। बैठक में उपस्थित नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय ने बताया कि स्मार्ट सिटी परियोजना के अंतर्गत 120 करोड़ की लागत से बैरिया बस स्टैंड को विकसित करने की योजना है। इस हेतु टेंडर की प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी। बताया गया है कि जनवरी माह से कार्य शुरू किए जाने की संभावना है। बस स्टैंड में टूरिस्ट इनफॉरमेशन सेंटर भी बनेगा। प्रशासनिक भवन, बस रुकने के लिए सुसज्जित प्लेटफार्म ,बेहतर यात्री शेड ,यात्री विश्रामालय ,कम्प्यूटराइज टिकट बुकिंग काउंटर बनाये जाएंगे। यात्रियों के लिए तमाम सुविधाएं मयस्सर कराई जाएंगी। यह एक अत्याधुनिक बस टर्मिनल टर्मिनल होगा। उन्होंने बताया कि इस हेतु पर्याप्त राशि उपलब्ध है। 7.8 9 एकड़ रकबा वाले बैरिया बस स्टैंड को आधुनिक बस स्टैंड के रूप में विकसित करते हुए इंटीग्रेटेड बस टर्मिनल के रूप में इसके निर्माण को लेकर बनाए गए विस्तृत प्लान की जानकारी नगर आयुक्त ने पीपीटी के माध्यम से समिति को उपलब कराई। उन्होंने बताया कि इसके पूर्व इस हेतु इमलीचट्टी बस स्टैंड का चयन किया गया था परंतु शहर में आए दिन लगने वाले जाम को देखते हुए वैकल्पिक व्यवस्था के तहत बैरिया बस स्टैंड को विकसित करने का प्रस्ताव दिया गया था। इस संबंध में सभी वैधानिक कठिनाइयों को दूर करते हुए बैरिया बस स्टैंड को ही अत्याधुनिक बस टर्मिनल के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया गया। बैठक में जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि इंटीग्रेटेड बस टर्मिनल के निर्माण की दिशा में बेहद गंभीरता के साथ कार्य करते हुए निर्माण कार्य जल्द शुरू की जाय ताकि शहर में इंटीग्रेटेड बस टर्मिनल के निर्माण से लोगो को लाभ मिलना शुरू हो जाय।बैठक में अपर समाहर्ता राजस्व राजेश कुमार ,अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी, अनुमंडल पदाधिकारी पश्चिमी, डीसीएलआर पश्चिमी ,जिला परिवहन पदाधिकारी, जिला जन-संपर्क पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में बैरिया बस स्टैंड को इंटीग्रेटेड बस टर्मिनल बनाए जाने ,यात्रियों के लिए सभी आवश्यक सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित हो इस दिशा में विस्तृत विचार- विमर्श किया गया।

बैठक में उपस्थित नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय ने बताया कि स्मार्ट सिटी परियोजना के अंतर्गत 120 करोड़ की लागत से बैरिया बस स्टैंड को विकसित करने की योजना है।

इस हेतु टेंडर की प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी। बताया गया है कि जनवरी माह से कार्य शुरू किए जाने की संभावना है।

बस स्टैंड में टूरिस्ट इनफॉरमेशन सेंटर भी बनेगा। प्रशासनिक भवन, बस रुकने के लिए सुसज्जित प्लेटफार्म ,बेहतर यात्री शेड ,यात्री विश्रामालय ,कम्प्यूटराइज टिकट बुकिंग काउंटर बनाये जाएंगे। यात्रियों के लिए तमाम सुविधाएं मयस्सर कराई जाएंगी। यह एक अत्याधुनिक बस टर्मिनल टर्मिनल होगा। उन्होंने बताया कि इस हेतु पर्याप्त राशि उपलब्ध है।

7.8 9 एकड़ रकबा वाले बैरिया बस स्टैंड को आधुनिक बस स्टैंड के रूप में विकसित करते हुए इंटीग्रेटेड बस टर्मिनल के रूप में इसके निर्माण को लेकर बनाए गए विस्तृत प्लान की जानकारी नगर आयुक्त ने पीपीटी के माध्यम से समिति को उपलब कराई। उन्होंने बताया कि इसके पूर्व इस हेतु इमलीचट्टी बस स्टैंड का चयन किया गया था परंतु शहर में आए दिन लगने वाले जाम को देखते हुए वैकल्पिक व्यवस्था के तहत बैरिया बस स्टैंड को विकसित करने का प्रस्ताव दिया गया था। इस संबंध में सभी वैधानिक कठिनाइयों को दूर करते हुए बैरिया बस स्टैंड को ही अत्याधुनिक बस टर्मिनल के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया गया। बैठक में जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि इंटीग्रेटेड बस टर्मिनल के निर्माण की दिशा में बेहद गंभीरता के साथ कार्य करते हुए निर्माण कार्य जल्द शुरू की जाय ताकि शहर में इंटीग्रेटेड बस टर्मिनल के निर्माण से लोगो को लाभ मिलना शुरू हो जाय।

बैठक में अपर समाहर्ता राजस्व राजेश कुमार ,अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी, अनुमंडल पदाधिकारी पश्चिमी, डीसीएलआर पश्चिमी ,जिला परिवहन पदाधिकारी, जिला जन-संपर्क पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed