जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने जम्मू कश्मीर गोलीकांड में मरे 2 मृतक परिवारों को 25 – 25 हजार एवं एक घायल मजदूर को किया ₹10000 की आर्थिक मदद ।

राजीव रंजन की रिपोर्ट

जम्मू कश्मीर में हुयी गोली कांड से बिहार का अररिया जिला कराह रहा है। रानीगंज प्रखंड के बौसी गांव निवासी राजा ऋषि देव। खैरूगंज निवासी जोगेंद्र ऋषि देव को बीते दिनों जम्मू कश्मीर गोलीकांड में गोली लगने से मृत्यु हो गई थी। वही मिर्जापुर निवासी टुनटुन ऋषि देव गोली लगने से घायल हो गएः
यह सभी लोग मजदूरी करने गांव से जम्मू कश्मीर गए थे।
इस घटना से परिजनों एवं इलाकों में कोहराम मचा हुआ है। परिजनों को देखने और सुनने वाला कोई नहीं है। मजदूरों की परिवार की स्थिति बेबस एवं लाचार बनी हुई है।
इसकी खबर जब जाप सुप्रीमो राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव मिली तो उनके गांव मोटरसाइकिल से पहुंचकर परिजनों से मुलाकात कर जीवन यापन के लिए मृतक परिवारों को 25 -25 की आर्थिक मदद की। एव एक -एक लाख रुपये घर बनाने के लिए दिया आश्वासन। वही मिर्जापुर निवासी गोली से घायल टुनटुन ऋषि देव को उनके इलाज के लिए 10,000 की आर्थिक मदद की। अभी उनका इलाज चल रहा है उनके स्वस्थ होने की भी कामना की।
घर आने के बाद भी सरकार की ओर से कोई सुधि नहीं ली गई है।
. प्रेस वार्ता में पप्पू यादव ने कहा कि हम फैक्ट्री नहीं बना पाए/ रोजगार पैदा नहीं किए/ हम पलायन को नहीं रोक पाए। हमले पर हमला हो रहे हैं। घटना बहुत ही निंदनीय है। केंद्र एवं बिहार सरकार से मृतक के परिजनों को 20 – 20 लाख रुपए एवं घायल को पचास हजार देने की भी मांग की।
श्री यादव ने कहा की लगातार सिपाहियों को मारा जा रहा है। चीन एवं अफ़गानिस्तान पर बिलकुल चुप। चीन की आंख तालिबान पर है। इंटरनेशनल पॉलिसी काफी गंदा है। हर चीज की राजनीतिकरण किया जा रहा है। मजदूरों का पलायन रुक नहीं रहा है। बिहार के लोग तन एवं मां बहनों को जिंदा रखने के लिए बाहर जाते हैं। वहां से लाश लेकर आते हैं। सरकार की पॉलिसी बिल्कुल फेल है। बिहारियों पर हमले हो रहे हैं। चीन एवं उत्तराखंड में जमीनों पर कब्जा किया जा रहा है। 40 सालों में सरकार रोजगार पैदा नहीं किया किसानों की स्थिति काफी दयनीय है। नेपाल से हम घिरे हुए हैं। सात सालों में अमन चैन बहाल नहीं हो सका।
हम बिहारियों पर हमला नहीं होने देंगे। इस स्वाभिमान की लड़ाई में जन अधिकार पार्टी आगे आएगी।
मौके पर चर्चित मुखिया प्रिंस विक्टर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed