पलनवा थाना क्षेत्र के अकबर चौक से एक देसी कट्टा और दो जिंदा कारतूस के साथ तीन नाबालिक बच्चे को ग्रामीणों ने पकड़ कर किया पुलिस को सुपुर्द

डी एन कुशवाहा

रामगढ़वा पूर्वी चंपारण- जिन हाथों में कलम, कॉपी व किताब होनी चाहिए उन हाथों में देसी कट्टा व जिंदा कारतूस देखकर परसौना तपसी गांव के लोग तब हैरत में पड़ गए जब पलनवा थाना क्षेत्र के अकबर चौक पर बुधवार की रात्रि 8:30 बजे टहल रहे थे। सुनसान सड़क पर तीन नाबालिग बच्चों को टहलते हुए देखकर वहां के ग्रामीण उन्हें भांपने में तनिक भी देर नहीं किए और तीनों को आनन-फानन में संदेह के आधार पर पकड़ लिए। पकड़ने के बाद ग्रामीणों ने जब इन लोगों की तलाशी ली तो उनके पास से एक देशी कट्टा, दो जिंदा कारतूस तथा दो छुड़ा बरामद किया गया। हथियार के साथ पकड़े जाने के बाद यह उम्मीद लगाया जा रहा है कि वे बच्चे किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे। हालांकि ग्रामीणों के पूछताछ में वे बच्चे कभी कुछ तो कभी कुछ बता रहे थे। उक्त घटना की सूचना ग्रामीणों ने तुरंत पलनवा थाना पुलिस को दी। पुलिस ने उन तीनों बच्चों को थाना लाकर पूछताछ की तो तीनों ने अपना नाम व पता क्रमशः पश्चिमी चंपारण अंतर्गत सिकटा थाना क्षेत्र के झुमका गांव निवासी शेख फिरोज आलम के 15 वर्षीय पुत्र शहीद अफरीदी, सिकटा थाना क्षेत्र के लक्ष्मीपुर गांव निवासी प्रेम पासवान के 16 वर्षीय पुत्र आलोक कुमार तथा सिकटा थाना क्षेत्र के लक्ष्मीपुर गांव निवासी जोखू साह के 15 वर्षीय पुत्र रवीश कुमार बताया। पुलिस उक्त तीनों गिरफ्तार युवकों से यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि ये तीनों किस घटना को अंजाम देने की फिराक में थे और किस के बुलावे पर आए थे तथा इनका टारगेट कौन व्यक्ति था? समाचार प्रेषण तक प्राथमिकी की कार्रवाई जारी थी। इसकी पुष्टि थानाध्यक्ष प्रभाकर कुमार पाठक ने की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed