भाजपा सांसद के साथ झड़प के बाद पूर्व कांग्रेस सांसद, सीएलपी नेता पर मामला दर्ज

प्रतापगढ़  : कांग्रेस के पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी, कांग्रेस विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा और 48 अन्य पर धारा 307 (हत्या की कोशिश), 146 (दंगा) और 336 (जीवन या दूसरों की व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालने वाला काम) के तहत प्रतापगढ़ के लालगंज पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है। भाजपा सांसद संगम लाल गुप्ता ने अपने समर्थकों के साथ प्रयागराज-प्रतापगढ़ मार्ग पर कई घंटों तक यातायात बाधित किया तब बाद में शनिवार देर रात मामला दर्ज किया गया।

इससे पहले शनिवार को प्रतापगढ़ जिले के सांगीपुर विकासखंड सभागार में आयोजित गरीब कल्याण मेले के दौरान कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट में कई लोग घायल हो गए थे। भाजपा सांसद संगम लाल गुप्ता को भी कथित तौर पर पीटा गया और पुलिस ने उन्हें बचाकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया। कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी के साथ भी हाथापाई की गई और आराधना मिश्रा का मोबाइल फोन हाथापाई में खो गया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, गरीब कल्याण मेले में बतौर मुख्य अतिथि भाजपा सांसद संगम लाल गुप्ता को आमंत्रित किया गया था, लेकिन वह देर से पहुंचे। इसी बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी और आराधना मिश्रा मोना मेला स्थल पर पहुंचे और चंद मिनट बाद भाजपा सांसद भी पहुंचे, जिससे कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं में तनाव फैल गया। तीखी नोकझोंक के बाद दोनों गुटों ने एक दूसरे पर हमला कर दिया। वायरल हुए एक वीडियो में दिखाया गया कि कुछ लोगों ने उनके वाहन का पीछा किया और उसे क्षतिग्रस्त कर दिया। हंगामे के बाद कार्यक्रम को भी स्थगित कर दिया गया। भारी बल ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को नियंत्रित किया।

बाद में सांसद संगम लाल गुप्ता की शिकायत पर कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी, उनकी बेटी व विधायक आराधना मिश्रा, संगीपुर के प्रखंड प्रमुख बबलू सिंह समेत 27 लोगों के खिलाफ दंगा करने के आरोप और घातक हथियारों से लैस होने, गैरकानूनी जमावड़ा करने, स्वेच्छा से चोट पहुंचाने और जीवन या दूसरों की व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालने के लिए आईपीसी की संबंधित धाराओं के तहत 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है।

थाना प्रभारी (एसएचओ) लालगंज थाना कमलेश कुमार पाल ने कहा कि आगे की जांच जारी है। आईएएनएस से बात करते हुए, कांग्रेस नेता और पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी ने घटना के लिए भाजपा नेताओं और उनके समर्थकों को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता लोकतंत्र में विश्वास नहीं रखते क्योंकि वे सत्ता के नशे में हैं। तिवारी ने कहा कि पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बेरहमी से पिटाई की।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि भाजपा सांसद संगम लाल गुप्ता पर हमले में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए गए हैं। तनाव को देखते हुए इलाके में अतिरिक्त बल तैनात कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed