अब घर-घर जाकर लगेगी कोरोना वैक्सीन की डोज, कोविड सेंटर न आने वालों को मोदी सरकार ने दी राहत

नई दिल्ली : कोविड 19 टीकाकरण अभियान को लेकर भारत सरकार ने फैसला लिया है कि देश में डोर-टू-डोर कोविड 19 वैक्सीन लगेगी यानि अब लोगों को घर-घर जानकार वैक्सीन लगाई जाएगी। इस बारे में नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने कहा कि भारत में डोर टू डोर कोविड टीकाकरण की अनुमति दी गई है। इसके लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। वीके पॉल के मुताबिक हम उन लोगों के लिए घर पर टीकाकरण शुरू कर रहे हैं, जो कोविड सेंटर पर जाने में सक्षम नहीं हैं। इसके लिए एडवाइजरी जारी की गई है।

Corona vaccine will be given at home to people unable to walk in Himachal

आदेश में कहा गया है कि वैक्सीनेशन सेंटर पर जाने में अक्षम लोगों को टीका लगाना सुनिश्चित किया जाए। सभी राज्य और केंद्रशासित राज्य इसके लिए खास व्यवस्था करें। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि कुछ राज्यों में वैक्सीनेशन पर जबरदस्त काम हुआ है। इस वजह से 18 साल से अधिक उम्र के 66 फीसद लोगों को कोरोना का कम से कम एक डोज लग चुका है। 23 फीसद को दोनों डोज लग गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि 66 प्रतिशत 18+ आबादी को कोविड टीकों की कम से कम एक खुराक मिल गई है। 23% 18+ आबादी ने दोनों खुराक प्राप्त की हैं। कुछ राज्यों के जबरदस्त काम के कारण हम यह हासिल कर पाए हैं। छह राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों ने अपनी 100% आबादी को पहली खुराक दे दी है। ये लक्षद्वीप, चंडीगढ़, गोवा, हिमाचल प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और सिक्किम हैं। चार राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में पहली खुराक का 90% से अधिक कवरेज है- ये दादरा और नगर हवेली, केरल, लद्दाख और उत्तराखंड हैं।

Rajasthan bikaner district is set to become first city in the country to  launch door to door Covid vaccination drive - कोरोना से लड़ाई: देश में पहली  बार यहां घर-घर जाकर लगाया जाएगा कोरोना टीका, एक बार में 10 लोगों को वैक्सीन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed