पीएचसी रामगढ़वा के प्रांगण में परिवार नियोजन जागरूकता पखवाड़ा का बीडीओ मो. सज्जाद व चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ प्रहस्त कुमार ने फीता काटकर किया उदघाटन

डी एन कुशवाहा

रामगढ़वा पूर्वी चंपारण-स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रामगढ़वा के प्रांगण में दिनांक 21 सितम्बर 2021 को परिवार नियोजन जागरूकता पखवाड़ा का उदघाटन प्रखंड विकास पदाधिकारी मो. सज्जाद एवं चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ प्रहस्त कुमार के द्वारा संयुक्त रूप से फीता काटकर किया गया।इस अवसर पर उपस्थित कर्मचारियों एवं पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी ने कहा कि प्रखंड क्षेत्र में सभी गांव मोहल्ला एवं आरोग्य दिवस केन्द्रों पर एएनएम एवं आशा कार्यकर्ता के परामर्श एवं फ्लेक्स बैनर के माध्यम से लोगों को जागरूक करेंगी। जिससे लोगों के बीच परिवार नियोजन के अस्थाई एवं अस्थाई साधनों की जानकारी समुचित रूप से प्राप्त होगी। उन्होंने बताया कि 21 सितम्बर से 4 अक्टूबर तक सेवा पखवाड़ा मनाया जा रहा है। इस बीच फैमिली प्लानिंग आस्थाई साधन संबंधी सेवाएं लाभार्थियों के बीच प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रामगढ़वा एवं विभिन्न उप स्वास्थ्य केंद्र पर वितरित की जाएंगी। जिसमें आईयूसीडी,पीपीआईयूसीडी, कंडोम, अंतरा इंजेक्शन, इमरजेंसी गोली, माला एन व छाया गोली शामिल है केयर इंडिया के प्रखंड प्रबंधक निबीत कुमार ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि फैमिली प्लानिंग के क्षेत्र में कार्य करना बहुत ही सूक्ष्म कार्य है, इसके लिए फ्रंट लाइन कार्यकर्ता को सबसे पहले लाभार्थी की जरूरतों को समझना जरूरी है। उन्होंने कहा कि क्लाइंट के पास बास्केट ऑफ चॉइस का विकल्प होना चाहिए। जिससे वह विभिन्न साधनों को समझ करके अपने पसंद के साधन का चुनाव कर सकें। जिसमें आईयूसीडी और पीपीआईयूसीडी एक वार लगने पर यह 5 से 10 साल तक कार्य करता है। अंतरा इंजेक्शन एक बार लगाने पर यह तीन महीनों के लिए अनचाहे गर्भ से बचाव करता है। माला एन की 21 गोलियां गर्भनिरोधक का काम करती है और आखरी 7 गोली आयरन की होती है। इसे मासिक धर्म के पहले दिन से उपयोग करना शुरू किया जाना है, साथ ही छाया गोली पहले 3 महीने के लिए हर सप्ताह दो गोली एवं चौथे माह से एक गोली लिया जाना है। पहली गोली मासिक धर्म के पहले दिन से शुरू किया जाना है तथा स्थाई साधन के लिए रक्सौल एवं सुगौली के प्रभारी को मरीज स्थानांतरण किया जाएगा। मौके पर बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, डॉ संतोष कुमार, केयर इंडिया के प्रखंड प्रबंधक निबीत कुमार, यूनिसेफ के रवि रंजन कुमार, मूल्यांकन एवं अनुश्रवण सहायक बृजेश ओझा, सुशांत कुमार, तारकेश्वर सिंह, मो.इमरान, फार्मासिस्ट जियाउल हक, निदान के मनिष मिश्रा ,लैब टेक्नीशियन प्रवीण कुमार, एएनएम रागिनी कुमारी तथा पूनम कुमारी सहित दर्जनों स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed