बिजली बिल बकायेदारों का लाइन डिस्कनेक्ट करने के बाद अवैध रूप से जोड़ कर पुनःबिजली जलाने के आरोप में पांच पर प्राथमिकी दर्ज

डी एन कुशवाहा

आदापुर पूर्वी चंपारण- बिजली बिल बकायेदारों का विभाग के द्वारा बिजली डिस्कनेक्ट कर दिया गया। बावजूद इसके पांच बिजली बिल बकायेदारों के द्वारा नियम कानून को ताक पर रखकर पुण: बिजली कनेक्शन कर दिया गया। डिस्कनेटेड लाइन को अवैध रूप से जोड़कर जलाने के मामले में विभाग ने 5 लोगों पर एफआईआर दर्ज कराई है। नतीजतन विद्युत विभाग के इस कार्रवाई से अवैध बिजली जलाने वालों में हड़कंप मचा हुआ है। इस बाबत विद्युत कार्यपालक अभियंता प्रदीप कुमार सुमन ने बताया कि वर्षों से विपत्र की राशि बकाया रखकर धड़ल्ले से एलडी लाइन जलाने या किसी अन्य के नाम से कनेक्शन लेकर बिजली का उपयोग करने वाले उपभोक्ताओं को चिन्हित कर राशि वसूली के लिए सघन जांच जारी है। इसी क्रम में अवैध कनेक्शन जोड़कर जलाने वालों एवं बकायेदारों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई भी की जा रही है। विभागीय जानकारी के अनुसार गत दो दिनों के अंदर आदापुर प्रखंड अंतर्गत 5 बकायेदारों पर बकाया राशि के अलावा जुर्माने की राशि वसूलने के लिए आदापुर व हरपुर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। इसमें श्यामपुर बाजार निवासी बिजली भगत व राम पुकार दास पर कुल 26 हजार व 55 हजार जुर्माना किया गया है। वहीं कचरबारी निवासी प्रभु महतो, अलीजान मियां व मोबारक खान पर क्रमशः 8 हजार 5 सौ, 9 हजार 3 सौ व 15 हजार कुल बकाए सहित जुर्माना विद्युत विभाग द्वारा ठोका गया है। ज्ञात हो कि विद्युत विभाग के इस कार्रवाई से जहां बकायेदारों की नींदें हराम हो गई है ,वहीं अवैध बिजली जलाने पर भी हद तक विराम लग चुका है। उक्त आशय की पुष्टि करते हुए कार्यपालक अभियंता श्री सुमन ने बताया कि कोरोना काल के उपरांत विभागीय निर्देश के आलोक में यह अभियान निरंतर जारी रहेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि बकायेदारों से हर हाल में राशि वसूल करने के लिए विभाग तत्परता से कार्य कर रही है। अब बिना वैध रूप से कनेक्शन लिए बगैर कोई भी बिजली चोरी छुपे नहीं जला सकता है। इस पर विभाग की पैनी नजर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *