अपराधियों के गोली के शिकार हुए स्वर्ण व्यवसायी कपिलदेव सर्राफ व चंदन कुमार का अश्रुपूरित नयनों से उनके पैतृक गांव परसौना तपसी में किया गया अंतिम संस्कार

डी एन कुशवाहा

रामगढ़वा पूर्वी चंपारण– पलनवा थाना क्षेत्र परसौना तपसी गांव निवासी स्वर्ण व्यवसायी कपिलदेव सर्राफ व उनके पौत्र चंदन कुमार के पार्थिव शरीर का बुधवार को उनके पैतृक गांव के श्मशान घाट पर हजारों लोगों के बुधवार को अश्रुपूरित नयनों से अंतिम संस्कार कर दिया गया। मुखाग्नि उनके छोटे पुत्र संजय कुमार सर्राफ ने दी । दोनों पुत्र विजय कुमार सर्राफ व संजय कुमार सर्राफ घटना के समय शहर से बाहर पूणे एवं दिल्ली में थे। जो घटना की सूचना पाकर बुधवार की सुबह घर पहुंचे। एक ही परिवार के एक साथ मौत के सौदागरों द्वारा दो लोगों को मौत की घाट उतारने के बाद उनके पार्थिव शरीर को दाह संस्कार के लिए जैसे ही उठाया गया वैसे ही परिवार के महिला एवं पुरुष सदस्य दहाड़ मार कर एवं छाती पीट-पीटकर रोने लगे। परिजनों के दहाड़ मार कर रोने- चिलाने के कारण पूरा परसौना गांव का माहौल गमगीन हो गया। सबकी आँखे नम हो गई । जो ग्रामीण मृतक के परिजनों को चुप कराने व ढारस बंधाने आये थे ,वो भी अपने आखों के आंसू को रोक नही पाते थे । भारी संख्या में लोग उपस्थित थे। सबकी आँखे नम थी । घटना से आहत ग्रामीणों के मन में मायूसी और चेहरे पे गुस्सा स्प्ष्ट दिखाई दे रहा था। पीड़ित परिवारों को सांत्वना देने पहुंचे स्थानीय भाजपा विधायक प्रमोद कुमार सिन्हा ने परिजनों से धैर्य व हिम्मत से काम लेने की बात कही और उन्होंने परिजनों से कहा कि हम आपके हर दु:ख- सुख में साथ हैं। कानून पर विश्वास रखें, घटना में संलिप्त अपराधियों को कानून कड़ी से कड़ी सजा जरूर देगी। दाहसंस्कार में भाग लेने कांग्रेस के पूर्व प्रत्यासी रामबाबू यादव, पूर्व राजद प्रत्यासी सुरेश यादव,भाजयुमो के प्रदेश महामंत्री ई जितेंद कुमार,पूर्व जिलापार्षद प्रभात सिंह ,सांसद प्रतिनिधि राज किशोर राय,मुखिया पति बृजकिशोर यादव,रवि मस्करा,माधव लाल सर्राफ, कन्हैया सर्राफ, शेख बेचू,हरि सिंह,धर्मेंद्र सिंह,मन्नू गिरी,सोना लाल साह, राजकुमार गुप्ता, इंद्राशन पटेल,रामकृपाल सिंह, मंजू साह तथा सौरजन यादव सहित हजारों की तादाद में लोग पहुंचे थे । ज्ञात हो कि विगत दो दिनों पूर्व स्वर्ण व्यवसायी कपिलदेव सर्राफ अपने 23 वर्षीय पौत्र चंदन कुमार के साथ रक्सौल से बाइक से अपने पैतृक गांव परसौना तपसी जा रहे थे। इसी बीच अपराधियों ने संध्या 7 बजे लौकरिया डिबनी घाट पुल के समीप दोनों को अचानक गोलियों से छलनी कर दी थी। जिन्हें आनन-फानन में एसआरपी हॉस्पिटल रक्सौल लाकर भर्ती कराया गया। जहां दोनों की मौत हो गई थी । घटना के बाद क्षेत्र में आम राहगीरों के अलावा व्यवसायी वर्गों में भी दहशत का माहौल उत्पन्न हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed