पताही एफसीआई गोदाम के दबंग ठेकेदार के तानाशाही एवं गोदाम प्रबंधक के मनमानी से जन वितरण परेशान।

पूर्वी चंपारण से डीएन कुशवाहा की रिपोर्ट

सरकार की सारी नियमों को ताक पर रखकर जन वितरण प्रणाली दुकानदारों को बिना वजन किए हुए गोदाम से दिया जाता है अनाज

  • जनवितरण के दुकानदारो से ठीकेदर वसूलते है अनलोडिंग का पैसा
  • गोदाम से जनवितरण दुकान तक अनाज पहुचाने को सरकार से मिलता है ठीकेदार को राशि
  • गोदाम से जनवितरण तक अनाज पहुचाने के गाड़ी पर ओवरलोड बोरा लादते है ठीकेदार

पताही प्रखंड के एसएफसी गोदाम पर गोदाम प्रबन्धक एवं ठीकेदार द्वारा सरकार के निर्देश को ताक पर रख बिना वजन किये खाद्यान्न जनवितरण प्रणाली के दुकानदारो को पहुचाया जा रहा है , साथ ही ठीकेदार एवं गोदाम मैनेजर द्वारा जनवितरण प्रणाली के दुकान पर खाद्यान्न पहुचाने के बाद जनवितरण प्रणाली के दुकानदार से गाड़ी से बोरा अनलोडिंग करने का पैसा वसूला जाता है , जबकी गोदाम से जनवितरण प्रणाली के दुकान तक खाधान पहुचाने के लिये सरकार ठीकेदार को पैसा देता है , और गोदाम पर गाड़ी पे बोरा लोडिंग एवं अनलोडिंग का पैसा ठीकेदार को ही पलदार को देना है , जबकि ठीकेदार एवं गोदाम मैनेजर अनलोडिंग का पैसा जनवितरण प्रणाली के दुकानदार से वसूला जाता है , साथ ही गोदाम मैनेजर बिना अनाज के बोरी को वजन किये ही 50 किलो के चावल के बोरी को 50 किलो 500 ग्राम एवं गेंहू के 50 किलो के ब बोरी को 51 किलो के वजन में जबरन जनवितरण प्रणाली के दुकानदार को देते है , जिससे सैकड़ो कुंटल अनाज का कालाबजारी गोदाम पर होता है , वही ठीकेदार द्वारा परिवहन विभाग के नियम को ताक पर रख कर वाहन पर ओवरलोड अनाज का बोरा लाद गोदाम से जनवितरण प्रणाली के दुकान तक पहुचाया जा रहा है , साथ ही ठीकेदार द्वारा जनवितरण दुकान पर अनाज पहुचाने के बाद गाड़ी से बोरा अनलोडिंग का पैसा तसिला जा रहा है जो पैसा पलदार को ठीकेदार को देना है , साथ ही प्रधानमंत्री अनाज योजना के मुक्त अनाज को भी जनवितरण दुकान पहुचाने के बाद दुकानदार से अनलोडिंग का पैसा तसिला जाता है ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed