स्प्रिट से शराब बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश : हथियार और पांच लाख से अधिक कैश बरामद

मुज़फ़्फ़रपुर जिला पुलिस कि विशेष टीम ने शराब माफियाओं के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। पंचायत समिति सदस्य समेत अंतरजिला गिरोह के छह धंधेबाज़ों को गिरफ्तार किया गया। इनके पास से हथियार और 5.28 लाख कैश बरामद हुआ है। इसके अलावा दो कार और शराब भी जब्त की गई है। इसकी जानकारी SSP जयंत कांत ने दी। पकड़े गए धंधेबाज़ों की पहचान पूर्वी चंपारण राजेपुर बालकोठी के राजन कुमार, कोदई के सुनील कुमार,बलाकोठी के कुंदन कुमार,मीनापुर मानिकपुर का पंचायत समिति सदस्य सुबोध कुमार, सदर थाना भगवानपुर नन्दपुरी का मुकेश राय उर्फ मुक्कू और सरैया के शिवशंकर मिश्रा के रूप में हुई है। SSP ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि यह गिरोह स्प्रिट और शराब की खरीद बिक्री के लिए कांटी इलाके में पहुंचे हैं। इसी आधार पर ASP वेस्ट के नेतृत्व ने टीम गठित कर छापेमारी कर उक्त कार्रवाई की गई। यह गिरोह स्प्रिट से शराब बनाने का धंधा करता है। पश्चिम बंगाल से स्प्रिट की खेप मंगाता है और शराब बनाकर विभिन्न इलाकों में सप्लाई करता है।
पंसस निकला गिरोह का सरगना : SSP ने बताया पंसस सुबोध इस गिरोह का सरगना है। वह अंतरजिला गिरोह के तस्करों के साथ मिलकर स्प्रिट की खेप मंगवाता था। उत्तर बिहार के कई जिलों में इस गिरोह का सिंडिकेट फैला हुआ है। अन्य धंधेबाज़ों ले बारे में भी जानकारी मिली है। निशनदेही पर टीम छापेमारी कर रही है।
मोबाइल और डायरी बरामद : SSP ने बताया कि धंधेबाज़ों के पास से कई मोबाइल भी जब्त हुआ है। ये सब व्हाट्सएप चैट और कालिंग से शराब की डील करते थे। ताकि पुलिस इन्हें पकड़ नहीं सके। इनके पास से डायरी भी मिला है। जिसमे करोड़ो के हिसाब का लेखा-जोखा है। ये सभी हिसाब शराब से सम्बंधित बताया जा रहा है।
अपराध की साजिश रचते धराया : SSP के निर्देश पर कुढ़नी इलाके से विशेष टीम ने जेल से जमानत पर छूट एक शातिर को दबोचा है। वह ईंट भट्ठा संचालक को लूटने की साजिश रच रहा था। उसके पास से मादक पदार्थ और हथियार बरामद किया गया है। वह पूर्व में जेल जा चुका है। उसकी पहचान रौशन कुमार के रूप में हुई है। सभी से पूछताछ कर जेल भेजने की कवायद की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *