एक करोड़ के गबन मामले में पुलिस ने पंजाब नेशनल बैंक के ब्रांच मैनेजर को गिरफ्तार किया

राजीव रंजन की रिपोर्ट

बिहार के समस्तीपुर जिलान्तर्गत पटोरी बाजार स्थित पीएनबी की सिरदिलपुर शाखा के तत्कालीन शाखा प्रबंधक मो. कासिम को पटोरी पुलिस ने विभूतिपुर पुलिस के सहयोग से मुस्तफापुर स्थित आवास से गिरफ्तार कर लिया है। शाखा प्रबंधक पर एक सीएसपी संचालक के साथ मिलकर लगभग एक करोड़ रुपए गबन करने का आरोप है।
बकौल थानाध्यक्ष मुकेश कुमार यह मामला 15 जुलाई को प्रकाश में आया था। इसमें बैंक परिसर में अवैध तरीके से सीएसपी संचालक के भाई मिथिलेश कुमार को गिरफ्तार किया गया था ।आरोप था कि पीएनबी के सीएसपी का एक संचालक संतोष कुमार बैंक परिसर के अंदर काउंटर पर ग्राहकों की राशि जमा-निकासी करता था। जब कोई ग्राहक बैंक के मूल काउंटर पर 20 हजार रुपए से कम राशि जमा करने जाता तो बैंक के शाखा प्रबंधक एवं कर्मी उसे सीएसपी संचालक द्वारा चलाए जा रहे काउंटर पर भेज देते थे और सीएसपी संचालक राशि लेकर उसे जमा पर्ची दे देता था। परंतु वह ग्राहक की राशि को बैंक के खाते में जमा नहीं करता था। जब पटोरी थाना क्षेत्र के धर्मपुर बांदे निवासी संदीप कुमार सौरभ ने अपनी बहन प्रतिभा के बैंक खाते में जमा किए गए 10 हजार रुपए बैंक के खाते में अंकित नहीं होने पर इसकी शिकायत तत्कालीन शाखा प्रबंधक मो कासिम से की तो उन्होंने ग्राहक को भगा दिया।

15 जुलाई को संदीप ने इसकी शिकायत पटोरी थाने में की। उसी दिन थानाध्यक्ष मुकेश कुमार ने बैंक जाकर स्वयं इन आरोपों की जांच की तो पाया कि बैंक परिसर में अवैध तरीके से सीएसपी का काउंटर चलाया जा रहा है। 16 जुलाई को एएसपी विजय कुमार, थानाध्यक्ष मुकेश कुमार ने बैंक परिसर में इस मामले की जांच की तो उस दिन भी सीएसपी संचालक का भाई मिथिलेश कुमार अवैध तरीके से सीएसपी का काउंटर बैंक परिसर में चला रहा था।

तब पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए सीएसपी संचालक के भाई को बैंक परिसर के काउंटर से गिरफ्तार कर लिया था। वही इस मामले में दर्ज एफआईआर में सीएसपी संचालक संतोष कुमार, उसके भाई मिथिलेश कुमार के अलावा पीएनबी के शाखा प्रबंधक मो कासिम को आरोपित किया गया था।

एफआईआर दर्ज होने के बाद से मो. कासिम फरार थे, जिन्हें मंगलवार रात पटोरी थाना के एएसआई सह मामले के अनुसंधानकर्ता विनय कुमार पासवान ने विभूतिपुर पुलिस की सहायता से गिरफ्तार कर लिया। गबन का मामला उजागर होने के बाद बड़ी संख्या में लोगों ने अपने खाते को अपडेट कराया तो पाया कि उनके खाते में भी राशि जमा नहीं की गई है। ग्राहकों से पटोरी थाना को मिली शिकायत के अनुसार इस मामले में लगभग एक करोड़ रुपए राशि का गबन किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed