सुशासन राज में भ्रष्ट अफसरों की चांदीः MVI विनोद 44 हजार रिश्वत लेते हुआ था गिरफ्तार, फिर भी परिवहन विभाग ने की फील्ड पोस्टिंग…अब EOU की रेड में अकूत संपत्ति मिला

राजीव रंजन की रिपोर्ट
PATNA: बालू खनन में मलाई खाने वाले अधिकारियों पर ईओयू की कार्रवाई जारी है। पहले एसडीओ फिर 2 डीएसपी और अब मोटरयान निरीक्षक के ठिकानों पर ईओयू की छापेमारी हुई है। रेड में अकूत संपत्ति का पता चला है। आज की कार्रवाई में एक और बड़ा खुलासा हुआ है। सुशासन की सरकार में किस कदर भ्रष्टाचार है इसकी पोल खुल गई। नीतीश राज में भले ही जीरो टॉलरेंस की बात होती हो लेकिन जिसकी सेटिंग होती है उस अधिकारी का बाल-बांका नहीं होता। जिस अफसर को निगरानी ने घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया, कोर्ट में चार्जशीट भी दाखिल है इसके बाद भी परिवहन विभाग उस अधिकारी को मलाईदार पद पर बिठाये रखा। आज आर्थिक अपराध इकाई ने छापेमारी की तो हकीकत सबके सामने आ गया। एमवीआई विनोद कुमार की अकूत संपत्ति का पता चला है।
बता दें, एमवीआई विनोद कुमार को वर्ष 2016 में निगरानी विभाग ने ₹44000 रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया था. इस संबंध में निगरानी थाना में 12 मार्च 2016 को केस दर्ज हुआ था .अनुसंधान के बाद विनोद कुमार एवं इसके चालक सत्य प्रकाश राय के विरुद्ध न्यायालय में आरोप पत्र 12 मार्च 2018 को समर्पित किया गया. लेकिन परिवहन विभाग आरोपी एमवीआई को फिल्ड में मलाईदार पोस्ट पर बहाल रखा. आज आर्थिक अपराध विभाग की छापेमारी में भोजपुर के एमवीआई रहे विनोद कुमार के पटना और बक्सर ठिकानों पर छापेमारीकी गई।

आर्थिक अपराध इकाई की तरफ से बताया गया है कि विनोद कुमार द्वारा आय से अधिक परिसंपत्ति अर्जित किए जाने की पुष्टि होने के बाद उनके विरुद्ध केस दर्ज किया गया .जांच में पाया गया कि मोटरयान निरीक्षक ने खुद व पत्नी के नाम पर अकूत संपत्ति अर्जित किया है. इसके साक्ष्य पाए गए हैं. पटना के रूपसपुर स्थित शांति एनक्लेव में फ्लैट तथा नवानगर बक्सर में कई भूखंडों के क्रय किए जाने के साक्ष्य मिले हैं. पुलिस उपाधीक्षक के नेतृत्व में आर्थिक अपराध इकाई की विशेष टीम का गठन किया गया .टीम के सदस्यों ने आज एमवीआई विनोद कुमार के रूपसपुर अवस्थित फ्लैट तथा बक्सर स्थित ठिकानों की तलाशी ली गई है जहां से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद हुए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed