केंद्र सरकार के निजीकरण नीति के विरोध में जाप ने दिया धरना

डीएन कुशवाहा की रिपोर्ट

सरकार अपनी नीतियों से अमीरों को और अमीर एवं गरीबों को और गरीब बनाने पर आमादा : अभिजीत

जन अधिकार पार्टी (लो.), पूर्वी चंपारण इकाई के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालय पर एकदिवसीय धरना दिया।‌ वहीं बाद में एक शिष्टमंडल ने जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को मांग पत्र सौंपा। धरना सभा को संबोधित करते हुए जाप प्रवक्ता सह प्रदेश सचिव अभिजीत सिंह ने कहा कि हाल के वर्षों में सरकार की उदासीनता, अधिकारियों एवं कर्मचारियों की अकर्मण्यता की वजह से इन संस्थानों का ह्रास हुआ है।

कहा कि केंद्र सरकार की अपनी दोष नीति की वजह से बड़े उद्योगपतियों के प्रभाव में आकर राष्ट्रीय संपत्तियों की मौद्रिकरन एवं निजीकरण करने पर आमादा है। इन नीतियों के लागू होने से इन सभी महत्वपूर्ण संस्थानों के कर्मचारियों का भी भविष्य अंधकार में हो जाएगा। यह निर्णय न सिर्फ जनविरोधी है, बल्कि संविधान विरोधी भी है। श्री सिंह ने कहा कि सरकार इन नीतियों से अमीरों को ओर अमीर और गरीबों को और गरीब बनाने पर आमादा है। इतना ही नहीं इन नीतियों के पीछे चोर दरवाजे से सरकार आरक्षण को भी समाप्त करना चाहती है जो कि गरीब विरोधी नीति है। ये सरकार सिर्फ अमीरों और व्यापारियों के हाथों भारतीय जनता को बेचने का काम कर रही है। इन नीतियों के तहत एक तानाशाह का जन्म होगा, और अंग्रेजी शासन के जैसे ही फिर से आमजन अमीरों और व्यापारी के गुलाम बन जीने को मजबूर होंगे।

कहा कि सरकार निजीकरण को बंद करे तथा साजिश के तहत 116 दिनों से हमारे नेता आमजन के सच्चे सेवक निर्दोष पप्पू यादव जी को जेल में रखी हुई है। उन्हें अविलंब रिहा करें, अन्यथा उग्र आंदोलन होगा। धरना को पार्टी के जिलाधयक्ष पवन कुमार सिंह उपाध्यक्ष सुरेन्द्र त्यागी, प्रदेश महासचिव मोख्तार प्रसाद गुप्ता, प्रदेश सचिव अंकुश कुमार सिंह,
रामबाबू यादव घोड़ासहन प्रखंड अध्यक्ष पवन सिंह जिला उपाध्यक्ष, छात्र जिलाध्यक्ष आकाश कुमार सिंह, प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष दीपू कुमार गुप्ता आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed