अपनो से मिलने गए अस्पताल में तो खैर नहीं

राजीव रंजन की रिपोर्ट

पूर्णिया:-: जिले का एक ऐसा अस्पताल जहां कोई भी घटना घटने से पहले पत्रकार पहुंच जाते है, जहाँ मरीज के परिजनों को देखने की इजाजत नहीं है| अगर आप गलती से भी देखने के लिए पहुंच गए तो आपकी खैर नहीं|

बताते चलें कि बीती रात पूर्णिया के लाइन बाजार स्तिथ न्यू अल्फा न्यूरो हॉस्पिटल में फारबिसगंज के एक भर्ती मरीज से मिलने उनके परिजन पहुंचते है.परिजन हॉस्पिटल के रिशेप्शन काउंटर में मरीज से मिलने की इजाजत मांगते है| वहीं रिशेप्शन काउंटर में खड़े हॉस्पिटल के मालिक मुकेश कुमार पूछते है कि क्या बात है, क्यों मिलना चाहते हो, तुमलोग दलाल हो, यहाँ से बाहर निकलो.ये कहते हुए मुकेश कुमार ने गाली-गलौज करते हुए मरीज के परिजन से मारपीट करने लगे| ये देखते हुए मरीज के परिजन जान बचाकर भागने लगे|

तब तक हॉस्पिटल के कुछ स्टाफ ने मरीज के दो परिजन को पकड़ कर एक कमरे में बंद कर बहुत मारा| दूसरी तरफ मरीज के कुछ और परिजन को इस बात का पता चलते ही हॉस्पिटल पहुंच गए| मामला बिगड़ता देख हॉस्पिटल के मालिक ने तुरंत एक पत्रकार को फोन कर बुलाता है, लेकिन हॉस्पिटल का माहौल देख पत्रकार भी कुछ नहीं बोल पाता है|इसके बाद शहर के कई बड़े मीडिया हाउस भी पहुंच कर मामले की कवरेज करने लगते है तो हॉस्पिटल के मालिक मुकेश कुमार कवरेज कर रहे पत्रकारों से उलझ जाते है, लेकिन मामला काफी बिगड़ने से हॉस्पिटल मालिक मुकेश कुमार और तथाकथित पत्रकार दोनों भाग खड़े होते है| काफी हो-हंगामे के बीच सहायक थाने की पुलिस पहुंचती है और हॉस्पिटल के मालिक मुकेश कुमार के ऊपर एफआईआर दर्ज होता है, तब जाकर मामला शांत होता है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed