पोलियो नहीं तोड़ पाया मुजफ्फरपुर के शरद कुमार का हौसला, एशियन गेम्स में गोल्ड के बाद अब पैरा ओलंपिक में ब्रॉन्ज

मुजफ्फरपुर के शरद कुमार ने टोक्यो पैरालंपिक में कांस्य पदक जीता है. शरद कुमार ने टोक्यो पैरालंपिक में ब्रॉन्ज मेडल हाईजम्प में जीता है. इससे लहली वह साल 2018 में एशियन पारा एथिलीट में 1.9 मीटर की हाईजम्प लगाकर गोल्ड मेडल भी जीत चुके है. जानकारी के अनुसार शरद दो साल की उम्र में ही पोलियोग्रस्त हो गए थे. जिसके चलते उनके शरीर के कुछ हिस्से पैरालाइस हो गए थे. शरद कुमार मोतिपुर के रहने वाले हैं.
शरद कुमार के साथ ही मरियप्पन थंगावेलु ने पुरुषों की हाईजम्प में सिल्वर मेडल हासिल किया हैं. उन्होंने हाई जम्प लगते हुए रजक पदक को अपने नाम कर लिया. इस तरह से हाई जम्प में भारत के पास आज टोक्यो पैराओलंपिक में दो और मेडल शामिल हो गए है. मरियप्पन और शरद दोनों ने ही शुरू से अपनी बढ़त बना कर रखी हुई थी. लेकिन शरद की 1.86 मीटर ऊंची जंप के तीनों प्रयास में नाकाम रहें. जिसके चलते वह गोल मेडल के दौड़ से बाहर हो गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed