बेला पंचायत के लोगों ने जन वितरण प्रणाली के दुकानदार पर लगाया गंभीर आरोप

रामगढ़वा पूर्वी चंपारण से सहायक ब्यूरो कुमार राकेश की रिपोर्ट

 रामगढ़वा प्रखंड के बेला पंचायत मे जन वितरण प्रणाली के दुकानदारों पर आगे नाथ न पीछे पगहा की कहावत चरितार्थ हो रही है। कहने के लिए तो इनको फेयर प्राइस डीलर का नामकरण किया गया है लेकिन इनके कारनामे बिल्कुल ही अनफेयर हैं। कई उपभोक्ताओं व स्थानीय लोगों की माने तो ये एक तरफ राशन की ऊंची कीमत ले रहे हैं तो दूसरी तरफ वजन मे कटौती कर रहे हैं। बेला गांव से राशन का उठाव कर लौट रहे कई उपभोक्ताओं ने डीलर के कारनामे का खुलासा किया है। इनकी मानें तो जनवितरण प्रणाली यहां लूट प्रणाली का पर्याय है। बेला के एक डीलर से राशन का उठाव कर लौट रहे कटगेनवा के भरत प्रसाद तथा भुवन प्रसाद ने बताया कि बेला पंचायत मे नही मिल रहा है कार्ड धारियों को यूनिट के हिसाब से राशन। प्रति यूनिट एक किलो राशन की कटौती कर उपभोक्ताओं को राशन दिया जा रहा है।बता दें कि  सरकार के द्वारा राशन कार्ड धारियों को पहले से मिल रहे प्रति यूनिट 5 किलो निर्धारित दर पर मिल रहे राशन के अतिरिक्त कोरोना काल में प्रति यूनिट 5 किलो राशन फ्री में दिया जाना है। कुल मिलाकर कोरोना काल में प्रति यूनिट 10 किलो राशन मिलना है।लेकिन डीलरों की मनमानी रुक नहीं रही है।उपभोक्ताओं को प्रति यूनिट दस किलो राशन के बदले 9 किलो राशन मिल रहा है।डीलर का नाम पूछने पर अमीरका बैठा बताते हैं। कार्ड धारी शेराजुल हक का कहना है कि मेरा इस डीलर से व्यवहार अच्छा है इसलिए मुझसे कटौती नहीं करते हैं। तो वही 12 वर्षीय लड़का इरफान आलम का कहना है कि मेरे पास दो कार्ड है और दोनों कार्डों मे मिलाकर 12 आदमी का नाम है मुझे 1 क्विंटल 20 किलो राशन मिला है मेरे में से भी कटौती नही की गई है। लेकिन कई सूत्रों के हवाले से पता चला है कि राशन कटौती जैसी मनमानी लगभग सभी डीलरों के द्वारा की जा रही है। वहीं जब हमारे सहायक ब्यूरो की बात मोबाइल फोन के माध्यम से अमीरका बैठा डीलर से हुई तो उन्होंने बताया कि मेरे द्वारा राशन में किसी प्रकार की कटौती नहीं की जा रही है लोग मुझ पर झूठा इल्जाम लगा रहे हैं। फिर इस संदर्भ मे जब क्राइम फ्लैश के सहायक ब्यूरो की बात मोबाइल फोन के हीं माध्यम से खाद आपूर्ति पदाधिकारी अरविंद कुमार से बात हुई तो उन्होंने बताया कि अभी मेरी तबीयत खराब है मै आपसे बात नहीं करूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed