तालिबान के शासन में काम नहीं कर पाएंगे गायक और फिल्म निर्माता, कहा- पेशा बदल लें तो बेहतर

नई दिल्ली -राष्ट्रपति अशरफ गनी और उपराष्ट्रपति अमीरुल्लाह सालेह के देश छोड़ने के बाद अफगानिस्तान पर तालिबान का पूरी तरह कब्जा हो चुका है। महिलाओं और बच्चियों जुल्म किया जा रहा है। कला, संस्कृति और सिनेमा खतरे में है। 22 जुलाई को तालिबान ने अफगानिस्तान के लोकप्रिय कॉमेडियन नज़र मोहम्मद उर्फ़ खाशा ज़्वान की हत्या कर दी थी। अब तालिबान ने गायक, फिल्म निर्माताओं और अन्य कलाकारों को लेकर अपनी राय रखी है।

The Taliban: A new face or buying time to consolidate? | Deccan Herald

तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद 24 अगस्त की शाम मीडिया से बात करने को आए। उनसे पूछा गया कि तालिबान गायकों और फिल्म निर्माताओं को अपना काम जारी रखने की इजाजत देगा? इसके जवाब में मुजाहिद ने कहा कि अगर शरिया के खिलाफ आकलन किया जाता है तो उन्हें अपना पेशा बदल लेना चाहिए।

These Are the 71 Best Documentaries of All Time | Vogue

बता दें, अफगानिस्तान सिनेमा जगत की कई हस्तियां तालिबान के कारण अपनी जमीन छोड़ पलायन कर रही हैं। अफगानिस्तान की जानी-मानी पॉप स्टार अर्याना सईद भी तालिबान के डर से भारत पहुंची हैं। उन्होंने तालिबान के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया है और भारत को सच्चा दोस्त बताया है। अफगानिस्तान से हो रहे पलायन को लेकर तालिबान ने चेताया है कि वह अब किसी अफगान को देश नहीं छोड़ने देगा। तालिबान ने कहा है कि वह अफगान नागरिकों को काबुल एयरपोर्ट की यात्रा करने से रोकगा, ताकि कोई अफगान निकासी विमानों पर सवार होकर विदेश न चला जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed