असम और मिजोरम के बीच भड़का सीमा विवाद, फायरिंग और पत्थरबाजी से तनाव

गुवाहाटी -असम और मिजोरम के बीच जारी सीमा विवाद आज एक बार फिर भड़क उठा। मामला इतना बढ़ गया कि बॉर्डर पर असम के सुरक्षाबलों और मिजोरम के नागरिकों के बीच झड़पों तक की खबर है। इस दाैरान दोनों तरफ से फायरिंग भी हुई। दोनों ही राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों ने एक-दूसरे पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से दखल करने को कहा है। हाल ही में अमित शाह ने इस मुद्दे पर बैठक की है।

Assam and Mizoram border dispute is getting complicated 10 july Dinkar Kumar's blog | उलझता जा रहा है असम और मिजोरम का सीमा विवाद, जानिए क्या है पूरा मामला


मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथांगा ने सोमवार को सीमा पर पत्थरबाजी करते लोगों का वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मदद मांगी है। वहीं, असम पुलिस ने घटना के लिए मिजोरम के उपद्रवियों को जिम्मेदार बताया है।

Amit Shah has not undergone any fresh COVID-19 test, Government official  clarifies - The Economic Times


जोरामथांगा के वीडियो पर असम पुलिस ने कहा, ‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि असम की भूमि को अतिक्रमण से बचाने के लिए लैलापुर में तैनात असम सरकार के अधिकारियों पर मिजोरम के उपद्रवियों ने पथराव और हमला किया।’ पत्थरबाजी को लेकर मिजोरम के सीएम ने पहले ट्वीट किया, ‘अमित शाह, कृपया इस मामले को देखें,  इसे अभी रोके जाने की जरूरत है।’ इसके कुछ ही समय बाद असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने उन्हें जवाब देते हुए कहा, ‘कोलासिब (मिजोरम) के एसपी हमें अपनी पोस्ट से हटने के लिए कह रहे हैं, तब तक उनके नागरिक न सुनेंगे और न ही हिंसा रोकेंगे, हम ऐसी परिस्थितियों में सरकार कैसे चला सकते हैं?’ असम पुलिस के विशेष महानिदेशक जी.पी. सिंह ने मीडिया को बताया कि जब भी एनएचआरसी और एनसीएसटी द्वारा राज्य से जवाब मांगा जाएगा तो उसी के अनुसार प्रतिक्रिया प्रदान की जाएगी। ‘‘मूल मुद्दा यह है कि मिजोरम द्वारा असम की भूमि का अतिक्रमण हुआ है, उसके बाद अन्य मुद्दे हैं, लेकिन मूल मुद्दा अतिक्रमण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed