Published On: Tue, May 15th, 2018

फ्लाइट में सुनंदा-थरूर के बीच मारपीट के बाद सामने आया था आपसी झगड़ा

सुनंदा पुष्कर बॉलीवुड से लेकर राजनीति की दुनिया में चर्चित थीं। उनका मिलनसार स्वभाव हर किसी को आकर्षित कर लेता था। आकर्षक व्यक्तित्व के कारण सुनंदा और थरूर एक दूसरे के करीब आए गए थे और शादी कर ली थी। लेकिन, पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार से थरूर के अफेयर को लेकर दोनों के बीच झगड़े शुरू हो गए थे। जनवरी 2014 के दूसरे हफ्ते में तिरुवनंतपुरम से दिल्ली की एयर इंडिया की फ्लाइट में सुनंदा और शशि थरूर के बीच मारपीट तक हो गई थी। सुनंदा ने सोशल मीडिया के माध्यम से बताया था कि उसके पति का पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार से अफेयर चल रहा है।
PunjabKesari
खुलासा करने से पहले हो गई सुनंदा की मौत
इसके बाद 16 जनवरी को सुनंदा ने वरिष्ठ पत्रकार नलिनी सिंह को फोन कर बताया कि वह थरूर के बारे के कुछ बड़ा खुलासा करेगी। लेकिन, वह खुलासा कर पातीं, उससे पहले 17 जनवरी, 2014 की रात करीब 7:45 मिनट पर केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने एसएचओ सरोजिनी नगर को फोन कर बताया कि उनकी पत्नी की मौत हो गई है । पुलिस की टीम होटल लीला के कमरा नम्बर 345 में पहुंची और सुनंदा पुष्कर के शव को एम्स ले जाएगा।
PunjabKesari
मौत पर सस्पेंस
सुनंदा का पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने खुलासा किया था कि सुनंदा की मौत अचानक हुई है और सामान्य मौत नहीं है। शशि थरूर ने बताया कि सुनंदा लूपस नाम की बीमारी से जूझ रही थीं और उनका इलाज केरल इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में चल रहा था। सुनंदा-थरूर की शादी को 7 साल नहीं हुए थे इसलिए इस मौत की जांच एसडीएम ने की। एसडीएम ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि इस मामले को और जांच की जरूरत है क्योंकि सुनंदा की मौत जहर से हुई है। 23 जनवरी को तत्कालीन पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी ने मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी थी। 25 जनवरी को केस की जांच वापस स्थानीय पुलिस के पास आ गई थी। इसके बाद डीसीपी साउथ ने ज्वाइंट सीपी को पत्र लिखकर पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और एसडीएम की रिपोर्ट के आधार पर हत्या का केस दर्ज करने के लिए कहा था। सितंबर 2014 में दिल्ली पुलिस को सीएफएसएल से सुनंदा की विसरा रिपोर्ट मिली और एम्स से फाइनल रिपोर्ट मिली, जिसमें कहा गया कि सुनंदा के मौत का कारण स्पष्ट नहीं है, लेकिन उसकी मौत किसी जहर से हुई है। हो सकता है कि ये कोई रेडियोएक्टिव जहर हो।
PunjabKesari
जांच के लिए एसआईटी का गठन
रिपोर्ट में सुनंदा के शरीर में चोटों का भी खुलासा हुआ था। सुनंदा के शरीर में जो 10-12 चोट के निशान थे वो मौत के पहले के थे और गहरे नहीं हैं। रिपोर्ट में कहा गया कि सुनंदा के बाएं हाथ की उंगलियों के बीच एक इंजेक्शन लगाने का निशान भी मिला। 1 जनवरी 2015 को दिल्ली पुलिस ने इस मामले में हत्या का केस दर्ज कर लिया और इस मामले की जांच के लिए एक एसआईटी बना दी। एसआईटी ने शशि थरूर से 3 बार पूछताछ की और उनका लैपटॉप, आईफोन और ब्लैकबेरी फोन सीज कर सीएफएसएल को जांच के लिए भेज दिया था।
PunjabKesari
यूं रहा पूरा घटनाक्रम

  • जनवरी,2014: सुनंदा की होटल लीला में हुई मौत
  • अप्रैल,  2014:  पुलिस ने कहा हत्या का मुकद्दमा होना चाहिए।
  • सितंबर 2014: एम्स रिपोर्ट में मौत की वजह जहर पाया गया।
  • जनवरी,2015: पुलिस ने इस मामले में हत्या की रिपोर्ट दर्ज की।
  • मई, 2017: एसआईटी ने कोर्ट में अंतिम जांच रिपोर्ट दाखिल की।

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Loading...