हड़ताल पर उतरे नगर निगम के 13000 शिक्षक, तीन माह से नहीं मिला वेतन

दिल्ली में 13000 से ज्यादा उत्तरी और पूर्वी नगर निगम के शिक्षकों ने बताया वेतन भुगतान की मांग को लेकर हड़ताल पर उतर गए हैं। शिक्षकों का दावा है कि तीन महीने से ज्यादा हो गए हैं लेकिन उन्हें वेतन नहीं दिया जा रहा। हड़ताली शिक्षकों ने धमकी दी है कि यदि वेतन भुगतान न किया गया तो वे सोमवार और मंगलवार को प्रस्तावित नगर निगम की बैठक पर रोक लगाएंगे।

टीचर्स एसोसिएशन के अनुसार, उत्तरी नगर निगम के शिक्षकों को आखिरी बार मई माह में वेतन दिया गया था। वहीं पूर्वी नगर निगम के शिक्षकों को आखिरी बार जून में वेतन दिया गया था।

शिक्षकों को एक समूह पिछले 26 दिनों से रोजाना नगर निगम मुख्यालय के बाहर बकाया वेतन भुगतान की मांग को लेकर दो घंटे की हड़ताल पर बैठता है।

एमसीडी शिक्षक संघ के महासचिव रामनिवास सोलंकी ने कहा, ‘हम यहां काम करने बाद रोज दो घंटे की हड़ताल पर बैठते हैं। जब तक हमारे बकाया वेतन का भुगतान नहीं किया जाता जब तक हम निगम का काम शांति से नहीं होने देंगे। हम इस महामारी में भी अपनी जान की परवाह किए बिना काम कर रहे हैं। वे हमारी सैलरी भी नहीं दे रहे। ऐसे में लोन की ईएमआई, घर किराया और बच्चों की ट्यूशन फीस भी भरना मुश्किल हो रहा है। हमारी जमा पूंजी भी खत्म होती जा रही है।

उत्तरी दिल्ली नगर निगम के स्कूल में करीब 9000 शिक्षक हैं वहीं पूर्वी दिल्ली नगर निगम में 4200 शिक्षक काम कर रहे हैं। शिक्षकों का दावा है कि वे लगातार काम कर रहे हैं इसके बावजूद भी उनका वेतन नहीं दिया जा रहा है।