सुशांत केस: NCB के लॉकअप में ही कटी रिया चक्रवर्ती की पहली रात, आज जाएंगी जेल, जानें कल क्या-क्या हुआ

सुशांत सिंह राजपूत केस से जुड़े ड्रग्स मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार कर मंगलवार को ही कोर्ट में पेश कर दिया। रिया चक्रवर्ती को सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े ड्रग्स के एक मामले में तीन दिनों तक पूछताछ करने के बाद मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद रिया का मेडिकल जांच हुआ और फिर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुंबई स्थित अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत के समक्ष पेश किया गया, जहां अदालत ने रिया की जमानत याचिका खारिज करते हुए उन्हें  22 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

अब रिया को 14 दिनों तक जेल में समय काटना होगा। क्योंकि कोर्ट ने 14 दिनों तक की न्यायिक हिरासत में भेजा है। रिया चक्रवर्ती को न्यायिक हिरासत की पहली रात एनसीबी के लॉकअप में ही गुजारनी पड़ी। क्योंकि जेल मैनुअल के अनुसार, सूर्यास्‍त के बाद जेल में किसी कैदी की एंट्री नहीं होती। रिया की मंगलवार की रात यहीं (एनसीबी ऑफिस में) कटी और आज सुबह जेल जाएंगी।

नसीबी ने दावा किया कि वह ड्रग सिंडिकेट की ‘सक्रिय सदस्य’ थी और अभिनेता के लिये ड्रग्स हासिल करती थी। अदालत ने रिया की जमानत याचिका खारिज करते हुए उन्हें 22 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया क्योंकि एनसीबी ने कहा कि उसे अब और हिरासत में लेकर पूछताछ की जरूरत नहीं है क्योंकि वह पहले ही तीन दिनों तक पूछताछ कर चुकी है। वहीं, रिया के वकील सतीश मानशिंदे ने कहा कि वह जमानत के लिये सत्र अदालत जाएंगे। 

इससे पहले एनसीबी के उप निदेशक के. पी. एस. मल्होत्रा ने बताया, ‘रिया को एनडीपीएस की धारा 27 ए, 21, 22, 29 और 28 के तहत गिरफ्तार किया गया है।’ गिरफ्तारी के बाद उन्हें कोविड-19 जांच सहित मेडिकल जांच के लिये एक वाहन से मध्य मुंबई में बीएमसी संचालित सायन अस्पताल ले जाया गया। वह काले लिबास में थी। उनके साथ एनसीबी अधिकारी भी थे। उनके साथ एक महिला पुलिस अधिकारी भी थी। 

अधिकारियों ने बताया कि कोविड-19 की जांच के तहत अस्पताल में उनकी एंटीजन जांच की गई, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई। उन्हें शाम करीब सवा सात बजे एनसीबी कार्यालय ले जाया गया जहां उन्हें वीडियो कांफ्रेंस के जरिये अदालत के समक्ष पेश किया गया। 

मीडिया से बात करते हुए एनसीबी के उप महानिदेशक, दक्षिण पश्चिच क्षेत्र, एम अशोक जैन ने कहा कि केंद्रीय एजेंसी के पास उनकी गिरफ्तारी के लिये पर्याप्त सबूत थे। उन्होंने कहा कि हालांकि उनके पास से मादक पदार्थ बरामद नहीं हुआ और एनसीबी को पूछताछ के लिये उन्हें हिरासत में रखने की जरूरत नहीं है। हालांकि, जैन ने कहा कि एनसीबी मामले में किसी भी आरोपी की जमानत का विरोध करेगा। 

उन्होंने कहा , ‘जिन लोगों के साथ हमें उनका आमना-सामना कराने की जरूरत है वे पहले से हमारी हिरासत में हैं। हम उन्हें (रिया को) पिछले तीन दिनों से पूछताछ के लिये बुला रहे थे और उनसे पूछताछ के बाद हम संतुष्ट हैं। ‘

एनसीबी ने मादक पदार्थों की आपूर्ति करने के आरोप में हाल ही में उनके भाई शौविक चक्रवर्ती और सुशांत के मैनेजर सैमुअल मिरांडा तथा दिवंगत अभिनेता के घरेलू सहायक दीपेश सावंत को गिरफ्तार किया था। काले लिबास में रिया बलार्ड एस्टेट स्थित एनसीबी के कार्यालय में मंगलवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे पहुंची और कार्यालय में प्रवेश करते समय उनके पास एक थैला भी देखा गया था। 

रिया (28) ने हाल ही में टीवी चैनलों को दिये साक्षात्कार में इस बात से इनकार कर किया था उन्होंने मादक पदार्थों का सेवन किया था। उनके वकील सतीश मानशिंदे ने उनकी गिरफ्तारी को न्याय की पूर्ण उपहास बताया है। उन्होंने कहा, ‘तीन केंद्रीय एजेंसियां एक महिला के पीछे पड़ी हुई हैं, महज इसलिए कि उनका प्रेम संबंध नशा करने वाले और मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं से ग्रसित व्यक्ति से था।’

अदाकारा से सीबीआई की जांच टीम ने हाल ही में पूछताछ की थी, जो मुंबई के पश्चिमी उपनगर सांताक्रूज स्थित डीआरडीओ अतिथि गृह में डेरा डाले हुए है। उनसे धन शोधन के एक मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी पूछताछ की थी। 

सुशांत का शव 14 जून को यहां उनके बांद्रा स्थित अपार्टमेंट में मिला था। सुशांत के पिता ने पटना में रिया के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज कराई थी जिसमें उन्होंने अदाकारा पर उनके बेटे को आत्महत्या के लिये उकसाने और उसके धन का गबन करने का आरोप लगाया था। रिया ने कई मौकों पर इन आरोपों से इनकार किया है।