सरकारी नौकरी के नाम पर लोगों को ठगने वाली महिला गिरफ्तार, पहले से दर्ज हैं पांच मामले

दिल्ली में 57 वर्षीय एक महिला को सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर लोगों को ठगने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी महिला की पहचान सफदरजंग एन्कलेव की रहने वाली अनिता धीमान के नाम पर हुई है। उन्होंने बताया कि उसके खिलाफ ऐसे पांच मामले दर्ज हैं।

पुलिस को महिला के जंगपुरा इलाके के भोगल बाजार में लोगों को ठगने की जानकारी मिली थी। इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुकेश कुमार और उसके भाई ने बताया कि वह जून में महिला अनिता धीमान के सम्पर्क में आए थे। महिला ने उन्हें बताया था कि दिल्ली के कई सरकारी विभाग में उसकी अच्छी जान-पहचान है।

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण-पूर्व) आर.पी. मीणा ने कहा कि महिला ने उनसे कहा था कि अगर वे कुछ पैसे दें, तो वह वीआईपी आरक्षण के तहत उनके बेटे और बेटी की सरकारी नौकरी लगवा सकती है। मुकेश कुमार ने महिला को 4.45 लाख रुपये दिए थे।

पुलिस ने बताया कि ना ही उनकी सरकारी नौकरी लगी और ना उन्हें पैसे वापस मिले। डीसीपी ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि महिला विधवा है और उसके बच्चे या कोई रिश्तेदार नहीं है। उसके खिलाफ अदालत में कई आपराधिक मामले लंबित हैं।