मोबाइल चोरी के शक में 11 लोगों ने युवक को पीट-पीटकर फेंका, ब्रेन हेमरेज से हुई मौत

गुजराज के सूरत शहर के वराछा में मोबाइल चुराने के शक में युवक को दुकान में बंधक बनाकर इतना पीटा गया कि उसकी मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने 11 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार, 22 सितंबर को सरदार मार्केट के गेट के पास एक युवक का लावारिस शव मिला था। पूणा पुलिस ने दुर्घटना की शिकायत दर्ज कर आगे की जांच शुरू की। सरदार मार्केट एवं आसपास के लोगों से पूछताछ शुरू की।

एटीसी फल की दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को देखते ही पुलिस के होश उड़ गए। कुछ लोग एक अज्ञात व्यक्ति को टेम्पो में लाते हुए दिखाई दिए। इसके बाद टेम्पो से युवक को नीचे उतारकर घसीटते हुए दुकान में ले गए। दुकान में युवक को बंधक बनाकर पीटने लगे। हीरा पन्ना अपार्टमेंट, तरसाड़ी कोसंबा में रहने वाला अनीश अबूबकर मेमण युवक को डंडे से पीटते हुए दिखाई दिया। अनीश समेत अन्य लोग युवक को पीटने के बाद दुकान से बाहर फेंक दिया। इसके बाद दुकान की फर्श पर पड़े खून के धब्बे को अच्छी तरह से धो दिया और डंडे को भी फेंक दिया। युवक कुछ दूर गया और दमावंद ऑटो पावर दुकान के सामने बेहोश होकर गिर पड़ा। युवक की ब्रेन हेमरेज से मौत हो गई। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में युवक की शरीर पर चोट के 21 निशान पाए गए हैं।

जिस दुकान में युवक को बंधक बनाकर पीटा गया उसे मालिक राकेश मित्तल ने 20 दिन पहले ही अनीश मेमण को किराए पर दिया था। वराछा पुलिस ने अनीश मेमण और उसके दूसरे साथियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। दुकान में डंडे से पीटने के बाद आरोपियों ने युवक को छोड़ दिया था। घायल युवक करीबन 100 मीटर पैदल चलने के बाद दमावंद ऑटो पॉवर के पास सड़क पर गिर गया और वहीं उसकी मौत हो वराछा पुलिस इंस्पेक्टर बीएन सगर ने बताया कि मृतक की अभी तक शिनाख्त नहीं हो पाई है। नजदीकी पुलिस थानों की मदद भी ले रहे हैं।

जानकारी के अनुसार, मृतक युवक सरदार मार्केट के आसपास कचरा बिनकर जीवन यापन करता था। पुलिस ने बताया कि अनीश मेमण समेत कुल 11 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों की पहचान की गई थी। युवक रात में दुकान में मोबाइल चुराते हुए सीसीटीवी में दिखाई दिया। इसके बाद आरोपियों ने उसे पकड़कर बंधक बनाकर डंडे से पीटा था।