बीमार छात्र के लिए सीएम योगी ने बदला नियम, सोशल मीडिया पर चल रहा था कैंपेन

सोशल मीडिया पर आईआईटी के एक रिचर्स स्कालर के ब्लड कैंसर की बीमारी की जानकारी पाकर सीएम योगी ने परिवार से खुद संपर्क किया। तुरंत ही उसे 10 लाख की मदद की। इस मदद के लिए मुख्यमंत्री योगी ने नियम से हटकर मदद की। साथ ही एसजीपीजीआई को ब्लड कैंसर पीड़ित छात्र आशीष दीक्षित के बेहतर इलाज और हरसंभव मदद के भी निर्देश दिए।

आशीष लखीमपुर के वनकर्मी अशोक कुमार दीक्षित का इकलौता बेटा है और ब्लड कैंसर से पीड़ित है। लखनऊ के एसपीजीआई में उसका इलाज चल रहा है। आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण उसके इलाज में अड़चने आने लगी थी। कारण पिता के सरकारी सेवा में होने और स्कालरशिप मिलने के चलते उसे सरकारी मदद मिलने में अड़चनें थीं। आशीष के इलाज के लिए 10 लाख रूपये की तत्काल जरूरत थी। इस बात की जानकारी के बाद आईआईटी रूडकी के शोध छात्र आशीष दीक्षित की मदद के लिए उसके सहपाठी व अन्य आईआईटी छात्रों ने सोशल मीडिया पर कैंपेन शुरू किया था। सोशल मीडिया पर जानकारी मिलते ही सीएम योगी ने आशीष के इलाज का खर्चा उठाने का फैसला किया और तत्काल आशीष के परिवार से स्वयं सम्पर्क किया।

सारी बातें जाने के बाद मुख्यमंत्री योगी ने इस तरह की सहायता के लिए बने नियम को शिथिल कर तत्काल एसजीपीजीआई को 10 लाख रूपये जारी कर दिए। साथ ही पीजीआई प्रशासन व आशीष के चिकित्सकों को उसके इलाज में किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं आने देने का भरोसा भी दिया और बेहतर से बेहतर इलाज के निर्देश भी दिए।