बिहार: रघुवंश के अंतिम पत्र को लेकर HAM के तेवर ‘तल्ख’, पोस्टर के जरिए लालू पर हमला

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Vidhansabha Chunav 2020) को लेकर राजनीतिक दल कोई भी मुद्दा हाथ से जाने नहीं दे रहे हैं. यही कारण है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh Prasad Singh) द्वारा अस्पताल से लिखे पत्र पर भी राजनीति थमने का नाम नहीं ले रही है. इस पत्र को लेकर मंगलवार को हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (HAM) ने पटना की सड़कों के किनारे कई पोस्टर लगाए हैं, जिसमें आरजेडी (RJD) अध्यक्ष लालू प्रसाद (Lalu Prasad Yadav) पर कई आरोप लगाए गए हैं. ‘हम’ के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ द्वारा लगाए गए इस पोस्टर में एनडीएम में शामिल दलों के नेताओं की तस्वीर भी लगाई गई है.

पोस्टर में प्रधनमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi), मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar), उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi), लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख चिराग पासवान (Chirag Paswan) तथा ‘हम’ के प्रमुख जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) की तस्वीर है. पोस्टर में आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद को ‘होटवार जेल सुप्रीमो’ बताते हुए पूछा गया है, ‘अपने बेटों को स्थापित करने के लिए वह कितनों की बलि लेंगे’.

उल्लेखनीय है कि आरजेडी के नेताओं ने रघुवंश प्रसाद सिंह द्वारा दिल्ली एम्स (AIIMS) से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लिखे पत्र पर सवाल उठाए थे. इसके बाद एनडीए के घटक दल इस मुद्दे को लेकर मुखर हो गए हैं. गौरतलब है कि रघुवंश प्रसाद सिंह का रविवार को दिल्ली एम्स में निधन हो गया था. इससे पहले उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एक पत्र लिखा था जिसमें वैशाली गढ़ पर गणतंत्र दिवस के मौके पर 26 जनवरी को तिरंगा फहराने की मांग सहित कई अन्य मांगें रखी थी.