बारिश के मौसम में डेंगू सहित बढ़ जाता है इन 5 बीमारियों का खतरा, जानें लक्षण और बचाव के तरीके

बारिश में संक्रमण जनित बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक बारिश में कीटाणु और बैक्टीरिया अधिक मात्रा में जन्म लेते हैं, जो स्वास्थ्य को प्रभावित करते हैं। बरसात में जगह-जगह पानी इकट्ठा हो जाने से, हवा में नमी की वजह से, गंदगी आदि के बढ़ जाने से कई तरह की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। सर्दी-जुकाम, बुखार, डेंगू, मलेरिया आदि इस मौसम में होने वाली आम बीमारियां हैं। इन बीमारियों से बचने के लिए आपको कुछ सावधानी बरतने की जरूरत है। स्वास्थ्य को लेकर कोई भी लापरवाही आपके लिए खतरनाक साबित हो सकती है। आइए जानते हैं बारिश के मौसम में कौन-कौन सी बीमारी होती है-

डेंगू: डेंगू बुखार एडिज नामक मच्छर के काटने से ही फैलता है। डेंगू फैलाने वाले मच्छर साफ पानी में पनपते हैं, इस बात का विशेष ध्यान रखें। डेंगू होने पर पूरे शरीर और जोड़ों में तेज दर्द होने लगता है। इससे बचने के लिए मच्छरों से बचें और घर से निकलने से पहले शरीर को पूरी तरह ढंक लें।

मलेरिया: मादा एनिफिलीज मच्छर के काटने से मलेरिया की बीमारी होती है। यह रोग एक संक्रामक रोग है और दुनिया के सबसे जानलेवा बीमारियों में से एक है। इस बीमारी के आम लक्षण बुखार और बदनदर्द है। ऐसे में इस समस्या से बचने के लिए घर के आसपास पानी न इकट्ठा होने दें और नालियों में डीडीटी का छिड़काव जैसे तरीके अपनाएं।

सर्दी-जुकाम: बारिश के मौसम में सर्दी-जुकाम होना भी एक आम समस्या होती है। सर्दी-जुकाम के कारण बुखार होना भी स्वभाविक है। ऐसे में आपको खुद का खास ध्यान रखने की जरूरत है। आपको बारिश से बचने की जरूरत है। इसके अलावा सर्दी-जुकाम से संक्रमित व्यक्तियों से संपर्क के बाद हाथ ठीक से धोएं। अधिक परेशानी होने पर डॉक्टर से संपर्क करें।

टाइफाइड: बारिश के मौसम में टायफॉइड भी एक आम बीमारी होती है। इस बीमारी के कारण बुखार भी हो जाता है। बारिश के मौसम में अक्सर लोग गंदे हाथों से खाना खा लेते हैं, जिससे वे टायफाइड बुखार के शिकार हो जाते हैं। इसलिए किसी भी चीज को खाने से पहले हाथ जरूर धो लें और बाहर का खाना ना खाने की कोशिश करें।

फूड पॉइजनिंग: बारिश के मौसम में फूड पॉइजनिंग होने का खतरा भी रहता है। इस बीमारी में पेट में ऐंठन, मिचली, उल्टी और दस्त की शिकायत होने लगती है। इसके अलावा रोगी शरीर में कमजोरी भी महसूस करने लगता है। ऐसे में सड़क किनारे मिलने वाले जंक फूड्स का सेवन ना करें और ना ही दूषिक पानी पिएं।