ग्रेटर नोएडा डबल मर्डर केस : गर्लफ्रेंड के पिता की पैसों की मांग पूरी करने को कर्मचारी ने ली दंपति की जान

ग्रेटर नोएडा वेस्ट की चेरी काउंटी सोसाइटी में मंगलवार रात को हुए कारोबारी दंपति हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। कारोबारी की दुकान में काम करने वाले कर्मचारी अमन हयात खान ने पैसों के लिए इस डबल मर्डर की वारदात को अंजाम दिया था। हत्या के बाद वह घर से एक लाख रुपये कैश लूट कर ले गया था। आरोपी ने अपनी प्रेमिका के पिता की पैसे की मांग को पूरा करने के लिए लूट की साजिश रची थी। पुलिस ने आरोपी अमन और उसकी प्रेमिका के पिता सौरभ को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी की प्रेमिका के घर से 72 हजार रुपये कैश, एक चेक बुक, एक मोबाइल और चाकू बरामद किया है।

डीसीपी सेंट्रल नोएडा हरिश्चंद्र ने बताया कि पुलिस टीम ने कारोबारी विनय गुप्ता और उनकी पत्नी नेहा गुप्ता की हत्या करने वाले आरोपी अमन हयात खान और उसकी मदद करने वाले आरोपी सौरभ को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी सौरभ के घर से लूटी गई रकम भी बरामद की है। आरोपी सौरभ मुख्य आरोपी अमन की प्रेमिका का पिता है।

गिरफ्तार आरोपी अमन हयात खान कारोबारी विनय कुमार गुप्ता की दुकान पर नौकरी करता था। वह ग्रेनो वेस्ट स्थित फ्रेंच अपार्टमेंट में रह रहा था। पुलिस पूछताछ में आरोपी अमन ने बताया कि उसने लूट के मकसद से हत्या की वारदात को अंजाम दिया था। दरअसल उसकी प्रेमिका का पिता सौरभ उससे पैसे की मांग कर रहा था। प्रेमिका के पिता के दबाव में आकर उसने लूट की योजना बनाई थी। घटना के बाद वह फ्लैट से एक लाख रुपये लेकर भागा था।

डीसीपी ने बताया कि इस घटना में आरोपी सौरभ ने अमन का साथ दिया था। सौरभ ने घटना के बाद आरोपी अमन के रुकने की व्यवस्था की थी। कारोबारी के घर से लूटा गया कैश भी आरोपी सौरभ के घर से बरामद हुआ है। सौरभ ग्रेनो वेस्ट स्थित स्प्रिंग मिडोज सोसाइटी में रहता है। पुलिस ने सौरभ को भी आरोपी बनाया है।

हत्या के बाद ओयो रूम में रुका था आरोपी

कारोबारी दंपति की हत्या और लूट के बाद आरोपी अमन नोएडा सेक्टर-62 में स्थित ओयो रूम में रुका था। आरोपी अमन के रुकने की व्यवस्था उसकी प्रेमिका के पिता सौरभ ने की थी। इसके बाद आरोपी टैक्सी कर बिहार भागने की फिराक में था, लेकिन पुलिस ने उसे धर दबोचा। आरोपी ने लूट की रकम प्रेमिका के पिता के घर में रखी थी।