कंगना रनौत के सपोर्ट में उतरीं सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता, लिखा- एक महिला की इज्जत मिट्टी में मिलाना भी तो गलत है

मुंबई की तुलना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) से करना कंगना रनौत को मंहगा पड़ता दिख रहा है। कंगना रनौत और महाराष्ट्र सरकार के बीच जुबानी जंग जारी है। इस बीच बीएमसी ने कंगना के ऑफिस के कथित अवैध निर्माण को ध्वस्त कर दिया है। कंगना रनौत के सपोर्ट में सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति उतरी हैं। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘आज मैं कंगना रनौत के साथ खड़ी हूं। कंगना न सिर्फ खुद के लिए चीजें बना रही हैं बल्कि कई महिलाओं के लिए उम्मीद की किरण बन रही हैं। उनके साथ, आप, मैं, हम सब कर सकते हैं। यह पैट्रिआर्की है, महिला की इज्जत को मिट्टी में मिलाना, उसके द्वारा बनाई चीजों को तोड़ना और सेल्फ रिस्पेक्ट को चोट पहुंचाना।’

इससे पहले एक्ट्रेस रेणुका शहाणे ने भी बीएमसी द्वारा कंगना रनौत के ऑफिस तोड़ने पर आपत्ति जताई थी। उन्होंने लिखा था कि हालांकि मुझे कंगना का वह कॉमेंट पसंद नहीं आया जिसमें उन्होंने मुंबई को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर कहा। लेकिन मुझे बीएमसी द्वारा तोड़फोड़ पर भी आपत्ति रही। आप इतना नीचे नहीं गिर सकते हैं। इसके साथ ही रेणुका ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री से अपील की थी कि वह इस मामले को देखें। हम पहले से ही इस महामारी में हैं क्या हमें और बेकार के ड्रामे देखने चाहिए?

आपको बता दें कि कंगना के दफ्तर के बाहर से जो तस्वीरें और वीडियो सामने आए, उसमें बड़ी संख्या में बीएमसी के कर्मचारी और पुलिस वाले दिखे। इस बीच कंगना रनौत ने बीएमसी की कार्रवाई के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया, जहां से राहत मिली है। अपने दफ्तर पर बीएमसी की कार्रवााई के खिलाफ कंगना के वकील ने हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की, जिस पर हाईकोर्ट ने कंगना के दफ्तर में तोड़फोड़ पर रोक लगा दी है और बीएमसी से जवाब मांगा है।