आयरन की कमी से कमजोर होती है इम्युनिटी, लें संतुलित आहार : डा. संजय

वैश्विक महामारी के दौर में कमजोर इम्युनिटी वालों पर संक्रमण का खतरा सबसे अधिक

कोविड-19 के इस दौर में आयरन की कमी वाले व्यक्तियों पर संक्रमण का खतरा अधिक बना होता है। आयरन शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने का काम करता है। हमारे शरीर में आयरन की कमी होने से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कमजोर हो जाती है जिससे हम बीमारियों का शिकार बन जाते हैं। ऐसे में एनीमिक व्यक्तियों को अत्यन्त सर्तक रहने की आवश्यकता है।

जिला महिला चिकित्सालय के मुख्य चिकित्साधिकारी डा.संजय पांडेय ने बताया कि आयरन हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं बनाते हैं। कोशिकाएं हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन बनाने का कार्य करती हैं और हीमोग्लोबिन ही फेफड़ों से आक्सीजन लेकर खून में पहुंचाता है। हीमोग्लोबिन कम होने से शरीर में आक्सीजन में कामी होने लगती है। अगर व्यक्ति एनीमिक है तो उसे सांस लेने में दिक्कत होने लगती है। अबतक सामने आया है कि कोविड-19 हमारे श्वसन तंत्र को प्रभावित कर रहा है। ऐसे में यह एनीमिक लोगों के काफी खतरनाक साबित हो सकता है। इस स्थिति में किसी भी संक्रमण होने का खतरा भी काफी ज्यादा बढ़ जाता है। व्यक्ति के शरीर में खून की कमी होने से व्यक्ति की इम्युनिटी अत्यन्त कमजोर हो जाती है। एक स्वस्थ्य महिला में हीमोग्लोबिन की मात्रा 12 ग्राम प्रति डेसीलीटर और पुरूषों में 14 ग्राम प्रति डेसीलीटर होना चाहिए।एनीमिया की समस्या सबसे ज्यादा महिलाओं मेंडा. पांडेय ने बताया कि अधिकांश महिलाओं में खून की कमी पाई जाती है। जो व्यक्ति अपने खान-पान का ध्यान नहीं रखता हैं, उसमें यह समस्या हो सकती है। यही कारण है कि लोगों को संतुलित भोजन लेने का परामर्श डाक्टरों द्वारा बराबर दिया जाता है। कोविड जैसे महामारी के दौर में इसका सबसे ज्यादा ध्यान रखने की जरूरत है।