अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी

ublish Date: November 05 2020 09:17:52pm

First slide

रिपब्लिक टी.वी. के प्रधान सम्पादक अर्नब गोस्वामी को 2 वर्ष पुराने एक मामले में मुंबई की अलीबाग पुलिस की टीम ने उनके घर जो लोअर परेल में है, से बुधवार को गिरफ्तार किया है। बुधवार को गिरफ्तारी से पहले अर्नब गोस्वामी और उनकी पत्नी ने दावा किया कि पुलिस ने उन्हें अपने साथ ले जाने से पहले उनके घर में उन पर हमला किया। हालांकि, पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस टीम की महिला कर्मी पर भी अर्नब और उनकी पत्नी ने हमला किया। पुलिस ने हमले की धाराएं भी लगाई हैं। पुलिस के अनुसार जब हमने गोस्वामी की पत्नी को गिरफ्तारी की सूचना दी तो, उन्होंने कागज फाड़ दिए। पुलिस के मुताबिक अलीबाग पुलिस ने भादंवि की धारा 306 और 34 के तहत गोस्वामी को गिरफ्तार किया।

यह गिरफ्तारी 2018 में एक व्यक्ति और उनकी मां की आत्महत्या से जुड़े मामले में की गई है। पुलिस का दावा कि उनके खिलाफ सबूत भी हैं। गोस्वामी को मुंबई से 90 किलोमीटर दूर अलीबाग पहुंचते ही स्थानीय अदालत के समक्ष पेश किया गया। वरिष्ठ पत्रकार के वकील ने गोस्वामी पर हमला किए जाने का आरोप लगाया, जिसके बाद अदालत ने पुलिस से कहा कि वह चिकित्सकीय जांच के लिए अर्नब को सिविल अस्पताल ले जाए। गोस्वामी के वकील गौरव पारकर ने बताया कि उन्हें अलीबाग की मजिस्ट्रेट अदालत में पेश किया गया। अदालत में उन्होंने उनके घर में सुबह घुसे पुलिस दल पर शारीरिक रूप से हमला करने का आरोप लगाया। मजिस्ट्रेट ने आरोपों का संज्ञान लिया और पुलिस को चिकित्सकीय जांच के लिए अर्नब को सिविल अस्पताल ले जाने का निर्देश दिया। पुलिस अनुसार 2018 में एक आर्किटेक्ट और उनकी मां ने कथित तौर पर गोस्वामी के रिपब्लिक टीवी द्वारा उनके बकाए का भुगतान न किए जाने से परेशान होकर आत्महत्या कर ली थी। इस वर्ष मई में महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने आर्किटेक्ट अन्यय नाइक की बेटी आज्ञा नाईक की नई शिकायत के आधार पर फिर से जांच के आदेश दिए जाने की घोषणा की थी। देशमुख के मुताबिक आज्ञा ने आरोप लगाया कि अलीबाग पुलिस ने गोस्वामी के चैनल द्वारा बकाया भुगतान नहीं करने के मामले में जांच नहीं की। उसका दावा है कि इस कारण ही उसके पिता और दादी ने मई 2019 में आत्महत्या कर ली थी। पुलिस ने बताया कि कॉनकॉर्ड डिजाइंस प्राइवेट लिमिटेड के मालिक अन्यय नाइक ने सुसाइड नोट में दावा किया था कि गोस्वामी, ‘आइकास्टएक्स/स्कीमीडियाÓ के फिरोज शेख और स्मार्ट वक्र्स के नीतीश सारदा के उनके बकाया रुपए का भुगतान नहीं करने की वजह से वह आत्महत्या कर रहे हैं। पुलिस ने बताया कि सुसाइड नोट के अनुसार इन तीनों कंपनियों ने नाइक को क्रमश: 83 लाख रुपए, चार करोड़ रुपए और 55 लाख रुपए देने थे। पुलिस ने बताया कि सुसाइड नोट में जिन अन्य दो लोगों का जिक्र किया गया है, उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया गया है। बकाए का भुगतान नहीं करने के दावों पर रिपब्लिक टीवी ने एक बयान में कहा कि कॉनकॉर्ड को पूरे पैसे दे दिए गए हैं।