अब पश्चिम बंगाल के हुगली में पेड़ से लटका मिला बीजेपी कार्यकर्ता का शव

पश्चिम बंगाल के हुगली जिले में रविवार को एक बीजेपी कार्यकर्ता का शव एक पेड़ से लटका मिला है। यह जानकारी पुलिस ने दी है। पुलिस ने बताया कि बीजेपी के कार्यकर्ता गणेश राय का शव गोघाट क्षेत्र के खांटी में अपने गांव के पास एक पेड़ से लटका मिला। बीजेपी ने आरोप लगाया कि गणेश की हत्या सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों द्वारा की गई। वहीं राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी ने सभी आरोपों से इनकार किया है। 

बताया जा रहा है कि राय शनिवार शाम से लापता थे। पुलिस ने कहा कि उनकी मौत के पीछे की परिस्थितियों की जांच की जा रही है। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने आरोप लगाया कि राय की हत्या कर टीएमसी ने फिर उनका शव पेड़ से लटका दिया गया। उन्होंने कहा कि ये सब कुछ आधी रात में किया ताकि इलाके में उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं में दहशत फैलाई जा सके। 

उन्होंने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ताओं को मौत के घाट उतारने का एक नया चलन बन गया है, लेकिन हम एक मजबूत विरोध शुरू करेंगे। उन्होंने कहा कि बीजेपी के बढ़ते समर्थन से  टीएमसी डर गई है। वहीं तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि उनकी पार्टी का कोई भी सदस्य राय की मृत्यु में शामिल नहीं है।

हुगली के भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी ने कहा कि इस क्रूरता को रोकने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के चैंपियन कहां हैं और पश्चिम बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्याओं पर वे चुप क्यों हैं? पुलिस ने बताया कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने इस घटना के विरोध में कुछ समय के लिए गोगाट-आरामबाग रोड को जाम कर दिया था। 

गौरतलब है कि 28 जुलाई को पूर्वी मिदनापुर जिले के हल्दिया में एक बीजेपी के बूथ अध्यक्ष का शव लटका मिला था। उस घटना से पहले बीजेपी नेता और
हेमताबाद के विधायक देवेन्द्र नाथ रे का शव उत्तर दिनाजपुर जिले में उनके घर के पास भी लटका मिला था। उनके परिवार ने आरोप लगाया था कि टीएमसी ने उनकी हत्या की है लेकिन सत्तारूढ़ दल ने फिर से सभी आरोपों को नकार दिया था और पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा था यह आत्महत्या का मामला है। पिछले कुछ वर्षों में बंगाल में कई बीजेपी कार्यकर्ताओं के शव राज्य के विभिन्न हिस्सों में लटके मिले हैं।