Published On: Sun, Oct 22nd, 2017

गुजरात में पीएम नरेंद्र मोदी से हो गई तथ्‍यों में गलती, इस बार ड्रीम प्रोजेक्‍ट को लेकर फिसली जुबान!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 31 किलोमीटर लंबी घोघा-दाहेज ‘रो-रो फेरी सेवा’ (नौका सेवा) के पहले चरण का शुभारंभ किया। भारत में ‘अपनी तरह की इस पहली परियोजना’ को प्रधानमंत्री ने इसे पूरे ‘दक्षिण-पूर्व एशिया के लिए मील का पत्थर’ करार दिया। 650 करोड़ रुपये की लागत से बना यह सर्विस लिंक पश्चिमी गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र के भावनगर जिले में घोघा को अरब सागर में खंभात की खाड़ी के पास दक्षिण गुजरात के भरुच जिले में दाहेज से जोड़ता है। इस परियोजना को अपना ड्रीम प्रोजेक्ट बताते हुए मोदी ने कहा कि फेरी सेवा उनकी ओर से ‘भारत के लिए अमूल्य उपहार’ है और उन्होंने दावा किया कि दक्षिण-पूर्व एशिया के लिए यह अपनी तरह की पहली परियोजना है। उन्होंने कहा कि इस सेवा से 360 किलोमीटर की दूरी 31 किलोमीटर या सात घंटे की यात्रा एक घंटे में सीमित हो जाएगी। मोदी ने कहा, “यह घोघा और दाहेज के बीच एक परियोजना लग सकती है लेकिन यह केवल भारत के लिए ही नहीं, बल्कि संपूर्ण दक्षिण पूर्व एशिया के लिए भी एक मील के पत्थर वाली परियोजना है। यह नौका सेवा अपनी तरह की पहली है। यह गुजरात के लोगों के लिए एक सपने के सच होने जैसा है।” हालांकि यह एशिया में अपनी तरह की पहली परियोजना नहीं है। पत्र सूचना ब्‍यूरो पर मौजूद 21 मार्च, 2017 की विज्ञप्ति के अनुसार, असम के ढुबरी जिले में 4 मार्च को ‘रो रो’ सेवा का सफल ऑपरेशन किया गया था। यहां 29 किलोमीटर लंबा जलमार्ग कवर होता है। इसे लगभग 10 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है।

प्रधानमंत्री ने बाद में नौका से दाहेज तक की यात्रा की जिसमें उनके साथ कुछ दिव्यांग बच्चे मौजूद थे। मोदी ने उन्हें ‘विशेष अतिथि’ कहकर संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि फेरी सेवा के बारे में उन्होंने केवल स्कूल के दिनों में ही सुना था, जिसकी शुरुआत करने का उन्होंने प्रयास किया है। उन्होंने मजाकिया लहजे में कहा, “ऐसा लगता है कि सभी अच्छे कामों का कार्यान्वयन मेरी किस्मत में है।” मोदी ने कहा, “नए बदलाव घिसे-पिटे रवैये से नहीं बल्कि नई सोच से आते हैं। हमने सोचने के तरीके को बदल दिया है।”

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

%d bloggers like this: