Published On: Fri, Jan 5th, 2018

मेक इन इंडिया’ या फेक इन इंडिया

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने निवेश के घटते आंकड़ों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के ‘मेक इन इंडिया’ पहल का मजाक उड़ाया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने आंकड़ों को ‘फेक इन इंडिया कार्यक्रम’ की ताजा जानकारी बताया।

 

उन्होंने गुरुवार को ‘फेकइनइंडिया’ हैशटैग लगाते हुए किए गए ट्वीट में कहा है, ‘लोगों, ‘फेक इन इंडिया प्रोग्राम’ के बारे में एक ताजा जानकारी।’ इस ट्वीट के साथ एक समाचार भी टैग किया है जिसमें दावा किया गया है कि भारत में ताजा निवेश 13 साल के निचले स्तर पर पहुंच गया है क्योंकि दिसंबर तिमाही में रुकी परियोजनाओं की संख्या बढ़ गई है।

 

खबर में सेंटर फॉर मानिटरिंग इंडियन इकोनॉमी की परियोजनाओं पर निगाह रखने वाले आंकड़ों के हवाले से दावा किया गया है कि भारतीय कंपनियों द्वारा 77 हजार करोड़ रुपये की नई परियोजनाओं की घोषणाएं की गई जो 13 साल के निचले स्तर पर हैं।

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि जब राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री की योजनाओं पर इस तरह का बयान दिया हो। राहुल हमेशा ही सरकार की आलोचना करते दिखाई दिए हैं फिर चाहे वह जीएसटी को गब्‍बर सिंह टैक्‍स बताने की घटना हो या फिर गुजरात चुनाव में दिए गए बयान हों।

आपको याद दिला दें कि गुजरात चुनाव के दौरान राहुल गांधी ने पीएम मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम पर तंज कसा था। उन्होंने गुजरात के एक संयंत्र में नैनो कार के उत्पादन में कमी संबंधी एक खबर का उल्लेख किया और कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी ‘मेक इन इंडिया’ परियोजना ‘दम तोड़कर’ गुजराती करदाताओं के 33,000 करोड़ रुपये को ‘खाक’ कर चुकी है.

राहुल गांधी ने यह भी पूछा है कि पैसे को ‘खाक’ में बदलने के लिए किसको जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। राहुल ने कथित रूप से कहा है कि गुजरात सरकार ने 33,000 करोड़ रुपये का ‘फायदा’ साणंद में कार परियोजना की भेंट चढ़ा दिया।

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

%d bloggers like this: