Published On: Wed, Apr 4th, 2018

योगीराज में सिस्टम से त्रस्त हुई गैंगरेप पीड़िता, CM आवास के बाहर लगा ली आग

लखनऊ। उत्तरप्रदेश के बाराबंकी की रहने वाली एक महिला के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया गया। जब प्रशासन और सरकार से महिला को इंसाफ नहीं मिल पाया तो उसने सीएम आवास के पास ही खुद को आग लगा ली। जानकारी के मुताबिक, महिला 30 प्रतिशत तक जल चुकी है और उसका इलाज लखनऊ के सिविल अस्पताल में चल रहा है। महिला विवाहित बताई जा रही है।

सिस्टम से त्रस्त होकर महिला ने लगाई आग
वहीं लखनऊ पुलिस ने पीड़िता का बयान दर्ज कर लिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस को दिए बयान में महिला ने बताया है कि उसके साथ गैंगरेप हुआ है, लेकिन पुलिस केस दर्ज करके उसे न्याय नहीं दिला पा रही है। महिला का कहना है कि पुलिस आरोपियों को बचाने में लगी हुई है।

पुलिस ने लगातार किया मामले को अनदेखा
जानकारी के मुताबिक, जब वो पुलिस के पास केस दर्ज कराने के लिए पहुंची तो उसे थाने से भगा दिया गया। इसके बाद कोर्ट के माध्यम से पुलिस ने केस दर्ज किया, लेकिन फिर भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद पीड़िता ने मुख्यमंत्री से इंसाफ की गुहार लगाई। वो सीएम से मिलने के लिए उनके आवास पहुंची, लेकिन वहां मुलाकात नहीं हो सकी। सिस्टम से त्रस्त पीड़िता ने आखिरकार सीएम आवास के बाहर खुद को आग लगा ली।

क्या है पूरा मामला
जानकारी के मुताबिक, बाराबंकी के एक गांव की महिला का आरोप है कि करीब 2 साल पहले उसके साथ कुछ लोगों ने गैंगरेप किया था। उसने थाने जाकर तहरीर दी थी, लेकिन पुलिस ने रेप की धाराएं न लगाकर सिर्फ छेड़छाड़ का केस दर्ज किया। सोमवार को महिला चुपचाप लखनऊ स्थित सीएम योगी आदित्यनाथ के आवास के पास पहुंची। वहां उसने खुद को आग के हवाले कर दिया। आनन-फानन में महिला को बचाकर अस्पताल में भर्ती कराया गया। महिला करीब 30 फीसदी से ज्यादा जल गई है, लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि हालात चिंताजनक है, लेकिन खतरे से बाहर है।

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>