Published On: Fri, Oct 20th, 2017

कुछ ऐसा होगा PM मोदी के सपनों का नया केदारनाथ धाम

सैनिकों के साथ दिवाली मनाने के बाद दूसरे ही दिन शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ धाम पहुंचे. पीएम ने मंदिर के गर्भ गृह में पूरे विधि-विधान से रुद्राभिषेक किया. पीएम मोदी 2013 में आपदा के बाद ही केदारनाथ का पुनर्निर्माण करना चाहते थे, लेकिन अब अक्टूबर 2017 में उनकी ये मनोकामना पूरी हुई.

करोड़ों रुपये के प्रोजेक्ट का शिलान्यास

अब हम आपको बताते हैं कि कैसा हो मोदी का नया केदारनाथ. पीएम मोदी ने शुक्रवार को केदारनाथ में करोड़ों रुपये की 5 पुनर्निर्माण परियोजनाओं का शिलान्यास किया. इन प्रोजेक्ट्स में बाढ़ सुरक्षा का काम और केदारपुरी का पुनर्निर्माण शामिल है. नए केदारनाथ के पुरोहितों के लिए थ्री इन वन मकान निर्मित किए जाएंगे. सबसे निचले स्तर पर यात्रियों के लिए, बीच में पुरोहित के लिए स्वयं तथा सबसे ऊपर पुरोहित के यजमान और मेहमान के लिए व्यवस्था रहेगी. इन आवास में 24 घंटे बिजली, पानी व स्वच्छता का प्रबन्ध रहेगा.

शिव के 20 रूपों की छवि

कर्नल कोठियाल औऱ उनकी टीम केदारनाथ के पुनर्निर्माण को अंतिम रूप देने जा रही है. केदारनाथ की सुरक्षा दीवार पर शिव के 20 रूप उकेरे जा रहे हैं. इसके साथ ही मंदाकिनी और सरस्वती नदी पर घाट बनाये गए हैं. साथ ही मंदिर के पीछे यात्रियों के लिए ध्यान केंद्र भी बनाया जा रहा है. ऐसा माना जा रहा है कि केदारनाथ के नए स्वरूप का पीएम मोदी अक्टूबर 2018 में उद्घाटन करेंगे.

दिव्य समाधि स्थल

केदारनाथ के मुख्य मार्ग का चौड़ीकरण किया जाएगा. मुख्य मार्ग में आरसीसी रोड, बिजली और आधुनिक व्यवस्था से लैस किया जाएगा. मंदाकिनी और सरस्वती नदी में बाढ़ सुरक्षा का पुनर्निर्माण कार्य इस प्रकार से किया जाएगा की बैठने की व्यवस्था हो तथा यात्री कल-कल की ध्वनि का अनुभव कर सके. आदि गुरु शंकराचार्य की भव्य दिव्य समाधि स्थल निर्मित किया जाएगा, जो केदार धाम से अलग अनुभव न हो, लेकिन यात्री समाधि स्थल में जाते ही आध्यात्मिक चेतना की अनुभूति करे.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को दूसरी बार केदारनाथ पहुंचे. पीएम मोदी ने जय जय केदार भोले बाबा के नारों से सम्बोधन से अपना भाषण शुरू किया. उसके बाद लोक भाषा गढ़वाली में कहा- देवभूमि उत्तराखंड के सभी भाई बहनो थे मेरु सादर नमस्कार. बाबा केदार कु आशीर्वाद सभी पर बान्यू रह इनहि कामना छ मेरी.

20 मिनट तक की पूजा

मंत्रोच्चार के बीच मोदी ने जल, घी, शक्कर, शहद, भस्म, फलों के रस, काले तिल, केसर, हल्दी आदि से भगवान का अभिषेक किया. पीएम ने मंदिर में करीब 20 मिनट तक पूजा की. मोदी ने भावविभोर होकर मंदिर की परिक्रमा भी की. मोदी केदारनाथ के कपाट बंद होने से एक दिन पहले यहां पहुंचे. 5 महीने पहले वह 3 मई को केदार के कपाट खुलने पर भी दर्शन के लिए आए थे.

उत्तराखंड के गरुड़चट्टी में रहे थे मोदी

बताया जा रहा है कि 1990 तक मोदी हर साल केदारनाथ के दर्शन करने आते थे. प्रधानमंत्री ने कहा की गरुड़चट्टी में जीवन के महत्वपूर्ण वर्ष व्यतीत करने का मौक़ा मिला. केदारबाबा ने मुझे केदार धाम से वापस सवा सौ करोड़ देशवासियों की सेवा के लिए भेजा. भगवान की पूजा के बाद पीएम ने आपदा से प्रभावित केदारपुरी के विकास कार्यों पर एक प्रेज़ेंटेशन देखा. नई केदारपुरी के बारे में पीएम मोदी ने कुछ निर्देश भी दिए.

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

%d bloggers like this: