Published On: Fri, Jan 5th, 2018

खुलेगा एंकर की मर्डर मिस्ट्री का राज

इवेंट एंकर अर्पिता तिवारी की रहस्यमयी मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए मुंबई पुलिस वारदात के दौरान अर्पिता के साथ मौजूद पांच लोगों का लाई डिटेक्टर टेस्ट किया है। 11 दिसंबर की सुबह पुलिस कोरहस्यमयी परिस्थितियों में अर्पिता की लाश अर्धनग्न हालत में  मालवणी स्थित मानव स्थल इमारत के दूसरे मंजिल में मिली थी।

पांचों लोगों का कलिना स्थित डायरेक्टोरेट ऑफ फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरी (डीएफएसएल) में लाई-डिटेक्टर टेस्ट किया गया है। अर्पिता के परिवार ने पुलिस पर हत्या के आरोपों को शामिल करने का दबाव डाला था लेकिन मजबूत साक्ष्य की कमी के कारण पुलिस अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं कर पाई थी।

अभी तक पॉलिग्राफ टेस्ट की रिपोर्ट नहीं आई है। फॉरेंसिक टेस्ट में इस बात की संभावना जताई जा रही है कि अर्पिता का यौन-उत्पीड़न किया गया था। घटना स्थल पर मौजूद शराब में अर्पिता के ब्लड सैंपल मिले हैं। पांच लोग जिनमें एक कुक है उन्हें मलवाणी पुलिस स्टेशन में बुलाकर रोज पूछताछ की जा रही है, लेकिन पुलिस पांचों द्वारा दिये गए बयानों की कड़ियों को मिलाने में अभी तक नाकाम रही है।

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक डीएफएसएल स्टाफ ने पोलिग्राफ टेस्ट करने से पहले जांच करने वाले पुलिस अधिकारी से भी गहन पूछताछ की। उसके बाद उन्होंने उस व्यक्ति का इंटरव्यू किया जिसका पॉलिग्राफ टेस्ट किया। पुलिस ने उससे उसकी पूरी जिंदगी को लेकर पूछताछ की।

वहीं अर्पिता के परिवार ने केस की जांच में हो रही देरी को लेकर नाराजगी जताई है।  अर्पिता की बहन श्वेता ने बताया, ‘किसी को भी इन पांच लोगों पर अर्पिता की हत्या का शक नहीं हैं। इनका कोई आपराधिक बैंकग्राउंड नहीं रहा है। हम समझ नहीं पा रहे हैं कि क्यों पुलिस अभी तक उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं ढूढ़ पाई है। इस बात का दुख है कि अभी तक हत्यारा खुला घूम रहा है। पुलिस ने हमसे जांच की कोई डिटेल शेयर नहीं की है।’  परिवार ने अपनी तरफ से एक वकील किया है। परिवार अर्पिता के सोशल मीडिया एकाउंट्स खंगालने के साथ-साथ उसके ब्यॉवफ्रेंड और कॉमन फ्रेंड्स के साथ भी संपर्क में है।

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

%d bloggers like this: