Published On: Sun, Jan 7th, 2018

अमेरिका धोखेबाज

अमेरिका द्वारा पाकिस्तान की मदद बंद करने के बाद वहां के नेता लगातार बयानबाजी कर रहे हैं। ताजा बयान पाकिस्तान के फॉरेन मिनिस्टर ख्वाजा आसिफ का आया है। आसिफ ने कहा- अमेरिका से हमारा अलायंस खत्म हो चुका है। अब पाकिस्तान अमेरिका के लिए किसी भी तरह की और कोई कुर्बानी देने के लिए तैयार नहीं है। बता दें कि अमेरिका ने पिछले हफ्ते पाकिस्तान को दी जाने वाली सात हजार करोड़ रुपए की मिलिट्री एड रोक दी थी। इसके पहले डोनाल्ड ट्रम्प ने एक बयान में कहा था कि अमेरिका ने 15 साल में पाकिस्तान को 33 बिलियन डॉलर की मदद दी, लेकिन उसने हमारे नेताओं को वेबकूफ बनाया।

अमेरिका तो धोखेबाज है

  • पाकिस्तान के फॉरेन मिनिस्टर ख्वाजा आसिफ ने ‘द वॉल स्ट्रीट जनरल’ को एक इंटरव्यू दिया। इसमें आसिफ ने अमेरिका पर बेहद गंभीर आरोप लगाए।
  • आसिफ ने कहा- अमेरिका से हमारा अलायंस उसी दिन खत्म हो गया था जिस दिन अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जाने वाली मदद पर रोक लगाई थी। वैसे भी अमेरिका

हमारे देश का इस्तेमाल सिर्फ अपने फायदे के लिए कर रहा था।
– ख्वाज ने एक सवाल के जवाब में कहा- सच्चाई तो ये है कि अमेरिका हमारे लिए एक ऐसा दोस्त साबित हुआ, जिसने हमें हमेशा धोखा ही दिया।

अफगानिस्तान में साथ देना भूल

  • आसिफ ने एक सवाल के जवाब में कहा- आज हम ये मानते हैं कि अफगानिस्तान की जंग में अमेरिका का साथ देना हमारी बहुत बड़ी भूल थी। इस जंग की वजह से

हमें अपने हजारों नागरिक और सैनिकों को खोना पड़ा।
– आसिफ ने कहा- अपनी भूल का अहसास हमें हो चुका है। अब पाकिस्तान अमेरिका के लिए कोई और कुर्बानी देने के लिए तैयार नहीं है। गलतियां अमेरिका ने कीं,

लेकिन आज कसूरवार उस पाकिस्तान को ठहराया जा रहा है जिसने हर कदम पर उनका साथ दिया।

पाकिस्तान को अकेला ना समझा जाए

  • आसिफ ने चीन का नाम तो नहीं लिया लेकिन उसके बहाने अमेरिका को धमकी जरूर दे दी। उन्होंने कहा- अमेरिका यह बिल्कुल ना समझे कि पाकिस्तान को उसने

अकेला कर दिया है। हमारे पास भी कई ऑप्शन हैं और पाकिस्तान भी कई देशों से अलायंस कर सकता है।
– पाकिस्तान के फॉरेन मिनिस्टर ने माना कि लादेन के मारे जाने के बाद उसके कई देशों से रिश्ते खराब हो गए थे। लेकिन, अब सब ठीक हो गया है।

रिश्ते इस कदर क्यों बिगड़े?

  • एक जनवरी यानी नए साल के पहले दिन डोनाल्ड ट्रम्प ने एक ट्वीट किया। कहा- पाकिस्तान अमेरिका से 15 साल में 33 बिलियन डॉलर (इंडियन करंस के हिसाब से करीब 2.14 लाख करोड़ रुपए) ले चुका है। उसने आतंकवाद के खात्मे के लिए कुछ नहीं किया। उसने हमारे नेताओं को वेबकूफ बनाया।
  • इसके बाद अमेरिका ने पाकिस्तान की पहले 1626 करोड़ रुपए और बाद में करीब 7 हजार करोड़ रुपए की मदद रोक दी। इसके बाद से अमेरिका और पाकिस्तान के

रिश्ते बेहद खराब दौर में पहुंच गए।

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

%d bloggers like this: