Published On: Sat, Oct 21st, 2017

सीता के अग्नि परीक्षा वाली जगह की मिटटी दिखती है काली

रावण ने भले ही माता सीताको अगवा कर लंका लेकर गए थे,लेकिन आज श्री लंका में सीता की पूजाकी जाती है और उनकी वहां ढेरों मंदिर मौजूद है|सभी मंदिरों में से एक मंदिर है सीता अम्मा मंदिर जहाँ पर स्थानीय श्रद्धालु काम ही जाते हैं|यह मंदिर नुआरा एलीआ के घुमाओदार पहाड़ के बिच जहाँ कभी अशोक वाटिका हुआ करती,आज वहां यह मंदिर मौजूद है|

इस इलाके में बहुत सारे मंदिर हैं,पर सीता अम्मा मंदिर एक मात्रा मंदिर जहाँ वानर सेना जाती है|अंदिर के प्रवेश द्वार से लेकर अंदर तक हनुमान यहाँ वीर योद्धा के रक्षक के रूप में अनेक प्रतिमाओं में आपको दिख जाएंगे|ऐसा मन जाता है मंदिर के पीछे एक चट्टान है जहाँ पर हनुमान के चरण चिन्हआपको दिख जाएंगे|उसी मंदिर से थोड़ी सी दूरी पर आपको अशोक वृक्ष भी देखने को मिल जाएगा,जिसमे अप्रैल के महीने में लाल रंग के फूल भी खिलते हैं|कथा है की हनुमान संजीवनी बूटी के लिए जिस पहाड़ को उठा लाए थे,उसमे से आई वनस्पति का ही यह विस्तार है|

देवरमु वेला नाम की जगह के बारे में प्रचलित है की यहीं पर सीता की अग्नि परीक्षा हुई थी|यहाँ की मिटटी आश्चर्यजनक रूप से काली राख की परत जैसी है|जबी पूरी देश की मिटटी भूरी और हलके लाल रंग की है|ऐसी कथा है की श्रीलंका में रावण दहन इसीजगह किया गया था जिससे यहाँ की मिटटी काली है|सीता की स्मृतियों से जुड़ा यह स्थान अब एक पवित्र तीर्थ बन चूका है|

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>