Published On: Tue, Jan 9th, 2018

ग्रामीणो ने दिये पांच सौ शिकायती एफिडेफिट.तीन बार हुई जांच .पाऐ गये दोषी लेकिन कार्यवाही अभी तक नही हुई

पैगम्बरपुर मुरादाबाद. ब्लाक छजलैट की ग्रामपंचायत पैगम्बर पुर सुखवासीलाल के ग्रामीणो ने पांच सौ शिकायती एफिडेफिड जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी को देकर ग्राम प्रधान व सैक्रेटरी के खिलाफ जांच कर कार्यवाही की मांग की थी लेकिन जांच तीन बार होने पर भी अधिकारियों ने कार्यवाही नही कि जिस कारण पंचायत सचिव व प्रधान के हौसले बुलंद है जिसके चलते सचिव ने शिकायत कर्ता ग्रामीणो को सवक सिखाने व देख लेने की धमकी दी है जिस कारण ग्रामीणो में भारी रोष व भय व्याप्त हैं
जिले के ब्लाक छजलैट की ग्राम पंचायत पैगम्बर पुर के ग्रामीणो ने प्रधान की शह पर सैकेट्री दूारा सरकारी धन की बंदर बाट करने. पैसा लेकर लाभ देने साथ ही द्वेष भावना से कार्य करने की शिकायत अधिकारियों से की थी जब सचिव को शिकायत कर्ताओ के नाम का पता चला तो बो आग बबुला हो गया और गांव जाकर शिकायत कर्ताओ को देख लेने व सबक सिखाने की सीधे धमकी दे डाली. ग्रामीणो को हडकावाने में प्रधान का हाथ बताया जा रहा है बताते चले की प्रधान पुत्र की अधिकांश गाव बाले से बनती नही है. इस लिए प्रधान दूारा उन ग्रामीणो को हर सम्भव परेशान किया जा रहा है साथ ही विकास कार्य में भी द्वेष भावना बरती जा रही हैं. ग्राम में जो भी कार्य कराया जा रहा है या तो पैसे लेकर या फिर अपने चहतो के. चहतो को लाभ पहुंचाने के चक्कर में प्रधान व सैक्रेटरी ने गाव के एक व्यक्ति की निजी जमीन पर सीमेन्ट की टैले तक बिछवा दी साथ ही कई चहेतो के लिंटर के मकान होने के बाद भी. आवास सुविक्रत कर धन जारी कर दिया है यही हाल सौचालय का किया पत्र दर दर भटक रहे हैं और अपात्रो को लाभ पहुँचाया गया. इसी तरहा की अनेक अनियमितताएं व सरकारी धन के बंदर बांट की शिकायत ग्रामीणे ने उच्च अधिकारीयो से की थी जिसपर अधिकारियों ने जांच के आदेश दिये जिसमे दोष सिध्द होने के बाद भी कार्यवाही नही कि गयी और पुनं जांच के आदेश दिये गये इसी तरह तीन बार जांच होने व दोष अनियमिताऐ .गवन सिध्द होने के बाद भी प्रधान व सेक्रेटरी के खिलाफ कार्यवाही न के कारण ग्रामीणो में भारी रोष है जबकि अधिकारी आश्वासन बराबर दे रहे हैं शनिवार को ग्रामीणो ने आधिकारियो से मिलकर कार्यवाही की मांग की जिस पर सोमवार को पुन जांच कमेटी जिसमे लघु सिचाई अधिकारी हरमिन्द्र सिंह सूद तथा डी डी ओ के.के.सिंह आदि ने गांव पहुच कर जांच पडताल की तथा ग्रामीणो की शिकायते सुनी थी और जल्द ही कार्यवाही करने का आश्वासन दिया यानी एक बार फिर आश्वासन मिल गया हर बार सही होता रहा केवल आश्वासन और तारिक पे तारिक. जांच पर जांच लेकिन कार्यवाही अभी तक नही ग्रामीणो का कहना है की प्रधान पुत्र इमरान व सैक्रेटरी अनुज कुमार दोनो हमसाज होकर सरकारी धन को लूट रहे हैं और दबंगाई दिखा रहे हैं साथ ही अपनी पहुच उपर तक बताते हुए कहते हैं कोई हमारा कुछ नही बिगड सकता और अभी तक की कार्यवाही से लगता भी कुछ ऐसा ही है सैकेट्री को बचाने के इरादे से जांच और आश्वासन के अलावा ग्रामीणो को कुछ भी नहीं मिला है .जिस कारण शिकायत कर्ता दहशत में है. बताते चले की ग्राम प्रधान पुत्र का विवादो से पुराना रिश्ता है. इसी लिए अधिकांश गावो से इमरान रंजिश रखता है. गांव में पहले भी कई बार विवाद हो चुका है. ग्रामपंचायत सदस्यो ने अविश्वास प्रस्ताव दिया था इसके अलावा इमरान गांव की एक लडकी को वहला फुसला कर लेजाने के कारण चर्चा में रहा था दूसरी बिरादरी की लडकी से कोर्ट मैरिज कर अपमानित कर चुका है. और आगे भी करने की नियत से रजिंशन परेशान करने का कोई भी मौका इमरान छोडना नही चाहता. गांव शियासत का अाखाडा बन चुका है. अब भोले भाले ग्रामीणो को उच्च अधिकारीयो से ही उम्मीद है कि हमारे साथ न्याय हो और जान माल की सुरक्षा हो अब देखना ये है कि अधिकारी गण भोले भाले ग्रामीणो को न्याय दिलाते है या सैकेट्री के साथ साथ प्रधान को बचाने का तानाबाना बुनते रहेंगे

 

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

%d bloggers like this: