Published On: Fri, Feb 9th, 2018

9 February, 2018 19:19

प्रा विद्यालय मिडडे मिल में सब गोलमाल, बच्चे परेशान,अधिकारी बने हुये है अनजान ।।

"क्राइम फ़्लैश"

मुरादाबाद

शासन की और से प्रत्येक प्रा0,व जूनियर विधालयो में पढ़ने बालो बच्चो के मिडडे मिल के लिऐ हजारो रुपये खर्च करती है ।
जिसमे प्रत्येक बच्चे को 100,150 ग्राम ,चावल,एक फल,व150,200,ग्राम दूध प्रत्येक बच्चे के हिसाब से प्रा0 और जूनियर विधालयो के लिये निर्धारित किया गया है ।
लेकिन वर्तमान में विधालयो में मिडडे मिल में प्रधान और हेडमास्टर मिलकर अपनी अपनी जेबें भरने में लगे हुये है ।
ताजा मामला डिलारी ब्लॉक के सलेम सराय के रीठ वाला ग्राम के प्रा0विद्यालय में चल रहा है ।
इस विद्यालय की हेड मास्टर रेनू वाला अपने हिसाब से मिडडे मिल बनबाकर बच्चो को मिलने वाले आहार में कटौती कर रही है । इस विद्यालय में 223 बच्चे नामांकित है ।
आज प्रत्येक विद्यालय में दूध वितरण था ।
इस बिद्यालय में मात्र 6 किलो दूध को उपस्थित 91 बच्चो को दिया गया ।
जबकि प्रा0 विद्यालय के प्रत्येक बच्चे को 150 ग्राम के हिसाब दूध निर्धारित है ।
और इसमें अपने हिसाब से दूध का वितरण हेड मास्टर की मनमर्जी से होता है । फलो का वितरण हुये भी दो माह से ज्यादा समय हो चुका है ।
बच्चो के मिडडे मिल में मिलने वाले आहार के सम्बंध में जब विद्यालय की हेड मास्टर रेनू वाला से जानकारी लेनी चाही तो उन्होंने अपने फोन से किसी का फोन लगाकर वात कराई जिससे बात कराई थी ।वह अपना नाम तौकीर और अमर उजाला मुरादाबाद का पत्रकार बताया ।
उससे मिडडे मिल की अनिमियता के बारे में कहा तो उसने फोन काट दिया ।
इससे से सपष्ट होता है । कि इन्हें कुछ पत्रकार बन्धुओ का संरक्षण प्राप्त है । इसी वजह से ये अपनी हठधर्मी के चलते बच्चो के आहार में कटौती कर रही है ।
अब देखना ये है । शिक्षा के अधिकारी इस खबर पर क्या कार्यवाही करके इस विद्यालय में पढ़ने वालों बच्चो का शासन की और से निर्धारित आहार बंटवाते है ।या नही ये तो आने वाला समय ही बताएगा ।।

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

%d bloggers like this: