Published On: Sat, Sep 22nd, 2018

नीति साफ हो, नीयत देश के लिए समर्पित हो तो फैसले भी उत्तम होते हैं: प्रधानमंत्री मोदी

 

नीति साफ हो नीयत देश के लिए समर्पित हो तो फैसले भी उत्तम होते हैं, यह बात प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तालचेर खाद कारखाना का उद्घाटन करते हुए कही। प्रधानमंत्री ने कहा कि कि नई ऊर्जा, नई गति से देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाने का हमने संकल्प लिया है और इस संकल्प को पूरा करने के लिए ऐसे अनेकों प्रोजेक्ट शुरू किए जा रहे हैं। इस प्रोजेक्ट को पूरी तरह से कार्यकारी होने की समय सीमा 36 महीने है और मैं 36 महीने बाद इस प्रोजेक्ट का उद्घाटन करूंगा। 13 हजार करोड़ रुपये की लागत से यह पुनरुद्धार शुरू हो रहा है जो कि देश के लिए नई तकनीक है। इस नई तकनीकी से न सिर्फ ओडि़शा बल्कि देश को नई दिशा मिलेगी। देश यूरिया एवं गैस उत्पादन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस कारखाने से प्रत्यक्ष तौर पर 4500 लोगों को एवं परोक्ष तौर पर हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा। इस कारखाने को पुनरुद्धार करने का सौभाग्य मुझे मिला है। कई दशक पहले सपने बुने गए थे, मगर किसी न किसी कमियों के कारण सपने धव्स्त हो गए थे और यहां के लोगों ने भी आशा छोड़ दी थी कि क्या इसे पुर्नजीवन मिल सकता है?  मगर नई ऊर्जा, नई गति के साथ देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाने का संकल्प लिया है। इससे पहले प्रधानमंत्री बलंडा हेलीपैड से शिलान्यास स्थल एवं सभा स्थल बक्सीजगबन्धु स्टेडियम पहुंचे। इस खाद कारखाना परिसर में पहुंचते ही कारखाना की डमी चित्र को देखकर कारखाना के बारे में जानकारी ली।

प्रधानमंत्री के दौरे के चलते पूरे तालचेर को सुरक्षा के घेरे में रखा गया था। एसपीजी के साथ राज्य पुलिस, सीआरपीएफ के जवान एवं दो स्पेशल टाकटिकाल प्लाटुन तैनात की गई थी। ओडि़शा के राज्यपाल प्रो. गणेशी लाल, मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, केन्द्र मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, केन्द्र मंत्री जुएल ओराम भी उपस्थित थे।

इस अवसर पर केन्द्र मंत्री श्री प्रधान ने इस अवसर पर कहा कि यह कारखाना हम सबके सामने खुला था और हमारे ही सामने यह कारखाना बंद हो गया था। अब हमारे ही सामने यह कारखाना पुन: प्रधानमंत्री के प्रयास से शुरू होने जा रहा है। प्रधानमंत्री आज कई प्रोजेक्ट का शुभारंभ एवं शिलान्यास करेंगे। यह कारखाना ओडि़शा के राजस्व को बढ़ाने के साथ युवाओं को रोजगार देने के साथ ओडि़शा के साथ देश के विकास में अहम योगदान निभाएगा। यहां 13 हजार करोड़ रुपये बनने जा रहे इस खाद कारखाना से 1.27 मिलियन मैट्रिक टन प्रतिवर्ष यूरिया का यहां पर उत्पादन होगा, 2022 तक यह खाद कारखाना कार्यकारी हो जाएगा।

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा कि आज ओडि़शा वासियों के लिए आनंद का दिन है। प्रधानमंत्री ने आज जो आधार शिला रखी है, यह हमारी बहुत दिनों की मांग थी, हमारी मांग की रक्षा कर इस दिशा में कदम उठाने पर मैं प्रधानमंत्री को धन्यवाद देता हूं।

पूर्वी भारत में यूरिया कारखाना नहीं था, जिससे हमें उत्तर प्रदेश, आन्ध्र प्रदेश से यूरिया मंगाना पड़ता था। यह समस्या अब खत्म हो जाएगी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर इस कारखाना से उत्पादित होने वाली यूरिया का 50 प्रतिशत ओडि़शा के किसानों को देने के लिए भी अनुरोध किया।

गौरतलब है कि अनुगुल जिला में नई तकनीकी से निर्मित होने जा रहे तालचेर खाद कारखाना 2002 से बंद था। वर्तमान समय में इसका नाम तालचेर फर्टिलाइजर लिमिटेड रखा गया है।

Loading...