Published On: Mon, Jun 4th, 2018

जम्मू-कश्मीर: पुलिस पार्टी पर ग्रेनेड से हमले में 10 घायल, रमजान के महीने में 4 दिन के अंदर दस हमले

`जम्मू-कश्मीर में भारत सरकार द्वारा रमजान के दौरान किए गए सीज़फ़ायर के दौरान आतंकियों के हमले बढ़ते जा रहे हैं. शोपियां में सोमवार को फिर आतंकियों ने पुलिस पार्टी पर ग्रेनेड हमला किया. ये हमला बाटापोरा चौक पर हुआ. इस हमले में दो पुलिसवालों समेत 10 नागरिकों के घायल होने की ख़बर है, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. आपको बता दें कि पिछले 4 दिन में दस जगहों पर आतंकियों ने ग्रेनेड से हमला किया है.

पुलिस के अनुसार, आतंकवादियों ने शोपियां शहर स्थित पुलिस थाने को निशाना बनाकर ग्रेनेड फेंका लेकिन ग्रेनेड अपने निशाने से चूक गया और सड़क किनारे फट गया, जिसमें कई राहगीर घायल हो गए. एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इलाके में तलाशी अभियान चलाया जा रहा है.’

इससे पहले केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने कहा है कि पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आया तो रमज़ान में सीज़फ़ायर के समझौते को तोड़ने के लिए विवश हो जाएंगे. पिछले महीने सरकार ने रमज़ान के पवित्र महीने में सीमा पर सीजफायर का फैसला किया था. हंसराज अहीर ने ये भी कहा कि भारत अभी भी पहले हमला नहीं करने की नीति पर कायम है.

आपको बता दें कि दो जून को आतंकियों ने श्रीनगर में बटास चौक पर सीआरपीएफ पार्टी पर हमला किया था. आतंकियों ने दिन में लोगों की भीड़ के बीच सुरक्षा बल की गाड़ी पर हमला किया. वहीं पाकिस्तान की गोलाबारी में में शहीद हुए BSF कांस्टेबल विजय पाण्डेय का उनके गृह जिले उत्तर-प्रदेश के फ़तेहपुर में पूरे सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए बड़ी तादाद में इलाक़ाई मौक़े पर पहुंचे थे. रविवार को जम्मू के अखनूर सेक्टर में पाक रेंजर्स ने गोलीबारी की थी, जिसमें बीएसएफ के एक अधिकारी एसएन यादव भी शहीद हुए थे. उनका भी उनके पैतृक घर देवरिया में सोमवार को अंतिम संस्कार किया गया.

एक हफ़्ते पहले ही दोनों देशों की DGMO स्तर की वार्ता में सीज़फ़ायर पर सहमति बनी थी. बावजूद उसके बिना किसी उकसावे के पाक रेंजर्स ने मोर्टार से गोले बरसाए और फ़ायरिंग की.

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Loading...